अक्टूबर में महंगाई दर सात फीसदी से नीचे रह सकती है

29
आरबीआई
आरबीआई

आरबीआई गवर्नर दास का अनुमान

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि अक्तूबर महीने में महंगाई की दर सात फीसदी से नीचे रह सकती है। उन्होंने कहा है कि भारतीय रिजर्व बैंक और सरकार दोनों महंगाई की चुनौती से प्रभावी ढंग से निपट रहे हैं। उन्होंने कहा कि वैश्विक उथल-पुथल के बीच भारत के समग्र मैक्रोइकॉनॉमिक फंडामेंटल लचीले बने हुए हैं। केंद्रीय बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि जहां तक जहां तक दो से छह प्रतिशत के बीच मुद्रास्फीति को रखने के लक्ष्य का सवाल है इसे बदलने की आवश्यकता नहीं है। भले ही इसे बदलने की चर्चा चल रही हो, पर ऐसा करने की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें : आरबीआई ने कैंसिल किया इस बैंक का लाइेंसस

आरबीआई
आरबीआई

भारतीय रिजर्व बैंक ने बाबाजी दाते महिला सहकारी बैंक लिमिटेड, यवतमाल, महाराष्ट्र का लाइसेंस रद्द कर दिया है। रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को कहा कि इस ऋणदाता के पास पर्याप्त पूंजी और कमाई की संभावनाएं नहीं हैं, जिसके मद्देनजर यह कदम उठाया गया है। बैंक द्वारा दिए गए आंकड़ों के हवाले से रिजर्व बैंक ने कहा कि लगभग 79 प्रतिशत जमाकर्ता, जमा बीमा और ऋण गारंटी निगम (डीआईसीजीसी) से अपनी जमा राशि की पूरी राशि प्राप्त करने के हकदार हैं। डीआईसीजीसी ने 16 अक्टूबर, 2022 तक पहले ही कुल बीमित जमा राशि का 294.64 करोड़ रुपए का भुगतान कर दिया है।

जानिए लाइसेंस रद्द करने का कारण

अपने लाइसेंस को रद्द करने के परिणामस्वरूप, बाबाजी दाते महिला सहकारी बैंक लिमिटेड को ‘बैंकिंगÓ का व्यवसाय करने से प्रतिबंधित कर दिया गया है, जिसमें अन्य बातों के अलावा, उसे जमा राशि लेने और भुगतान करने से तत्काल प्रभाव से रोका जाना शामिल है। शुक्रवार को कारोबार बंद होने के बाद से बाबाजी दाते महिला सहकारी बैंक का लाइसेंस रद्द करने की घोषणा करते हुए रिजर्व बैंक ने कहा कि बैंक के पास पर्याप्त पूंजी और कमाई की संभावनाएं नहीं हैं। रिजर्व बैंक ने कहा कि बैंक अपनी वर्तमान वित्तीय स्थिति के साथ अपने वर्तमान जमाकर्ताओं को पूर्ण भुगतान करने में असमर्थ होगा और अगर बैंक को अपने बैंकिंग कारोबार को आगे बढ़ाने की अनुमति दी जाती है तो जनहित पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

यह भी पढ़े : गर्लफ्रेंड्स के लिए चोर बन गया करोड़पति बाप का बेटा चुरा ली 24 स्कूटी