लॉकडाउन के बीच निर्मला सीतारमण ने किए राहतभरे 4 ऐलान

nirmala sitaraman निर्मला सीतारमण
nirmala sitaraman निर्मला सीतारमण

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी लॉकडाउन के बीच केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने राहत भरे 4 बड़े ऐलान किए हैं।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा 3 महीने तक किसी भी एटीएम से पैसे निकालने पर चार्ज नहीं, खातों में मिनिमम बैलेंस भी जरूरी नहीं

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा मिनिमम बैलेंस भी जरूरी नहीं

आईटीआर रिटर्न फाइल करने और पैन-आधार लिंक करने की तारीख 30 जून तक बढ़ाई गई। टीडीएस में देरी से पेमेंट करने पर लगने वाले ब्याज को 12% से घटाकर 9% किया गया। देश कोरोनावायरस के संक्रमण से संघर्ष कर रहा है।

इस बीच सरकार ने मंगलवार को आम आदमी के लिए बड़ी राहत दी। वित्त मंत्रालय के अधिकारियों से मौजूदा हालात पर चर्चा के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

‘कोरोना लॉक डाऊन’ ऐसी रहेगी जलपूर्ति

इस दौरान उन्होंने कहा कि संकट से जूझ रहे उद्योगों के लिए राहत पैकेज का ऐलान जल्द किया जाएगा। आम आदमी के लिए भी बड़ा ऐलान किया। निर्मला ने कहा- अगले तीन महीने तक किसी भी एटीएम से पैसे निकालने पर कोई चार्ज नहीं देना होगा।

इसके अलावा बैंक खातों में मिनिमम बैलेंस रखने की शर्त को भी खत्म कर दिया गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि आईटीआर रिटर्न फाइल करने और पैन-आधार लिंक करने की तारीख भी 30 जून तक बढ़ा दी गई है।

  • आम आदमी के लिए सरकार की तरफ से राहत के 4 कदम
  • 3 महीने तक किसी भी एटीएम से पैसे निकालने पर चार्ज नहीं लगेगा
  • खातों में मिनिमम बैलेंस रखना भी जरूरी नहीं
  • आईटीआर रिटर्न फाइल करने की तारीख भी 30 जून तक बढ़ाई गई
  • पैन-आधार लिंक करने की तारीख भी 30 जून तक बढ़ाई गई
  • उद्योगों को राहत के लिए सरकार का ऐलान*
  • टीडीएस में देरी से पेमेंट करने पर लगने वाले ब्याज को 12% से घटाकर 9% कर दिया गया है।
  • वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए इनकम टैक्स फाइल करने के लिए आखिरी तरीख 30 जून तक बढ़ाई गई।
  • विवाद से विश्वास स्कीम और आधार-पैन लिंक की तारीख भी बढ़ाकर 30 जून की गई।
  • 5 करोड़ रुपए से कम टर्नओवर वाली कंपनियों को लेट जीएसटी फाइलिंग पर कोई ब्याज, पेनाल्टी और लेट फीस नहीं लगेगी। मार्च-अप्रैल-मई में फाइलिंग की तारीख 30 जून तक बढ़ाई गई।
  • आयातकों और निर्यातकों को भी राहत, कस्टम क्लियरेंस अब 30 जून तक जरूरी सेवाओं में शामिल। 24 घंटे काम करेगी।
  • इस वर्ष कंपनियों के डायरेक्टरों को 182 दिन देश में रहने की अनिवार्यता से राहत दी गई।
  • एक करोड़ से कम का कारोबार करने वाली कंपनियों के खिलाफ दिवाली प्रक्रिया नहीं शुरू की जाएगी।

संक्रमण के चलते मंदी की ओर अर्थव्यवस्था

कोरोनावायरस फैलने से पहले ही देश की अर्थव्यवस्था सुस्ती में जा चुकी थी, लेकिन कोरोनावायरस फैलने से अब इसके मंदी की ओर जाने की आशंका जाहिर की जा रही है। इसके अलावा कई राज्यों में कर्फ्यू और करीब-करीब पूरे देश में लॉकडाउन जैसे हालात ने औद्यौगिक गतिविधियों को ठप कर दिया है।

कोरोना वायरस संक्रमण से जूझ रहे चीन में हंता वायरस से हुई मौत के बाद वहां के लोगों में डर का माहौल है। पहले से ही कोरोना से चीन में हजारों लोगों की मौत हो चुकी है और इस बीच इस हंता वायरस से वहां के यूनान प्रांत में एक व्यक्ति की मौत के बाद लोगों को इसके महामारी बनने का डर सता रहा है।

दरअसल, हंता वायरस से पीड़ित व्यक्ति काम कर शाडोंग प्रांत से बस से घर लौट रहा था। उसे हंता वायरस पॉजिटिव पाया गया था। उसकी मौत होने के बाद बस में सवार अन्य 32 लोगों की भी मेडिकल जांच की गई है। तो क्या हंता वायरस भी कोरोना वायरस की तरह खतरनाक वायरस है, क्या यह भी बड़े स्तर पर फैल सकता है?