प्रगति का हाईवे: अब आत्मनिर्भरता की ओर कदम बढ़ाता राजस्थान

34

जयपुर। केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग तथा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार 27 जून, 2022 को राजस्थान में 1,357 करोड़ रुपये की लागत वाली 243 किमी लंबी 9 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। राजस्थान की मुख्य सचिव उषा शर्मा, मंत्री भजनलाल जाटव, भागीरथ चौधरी, रामचरण बोरा, देवजी पटेल, निहालचंद चौहान और अन्य गणमान्यों की मौजूदगी में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये इन परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया गया। इसकी जानकारी केंद्रीय मंत्री ने कू ऐप के अपने आधिकारिक हैंडल के माध्यम से दी। इस पोस्ट में बताया गया है: केंद्रीय मंत्री @nitin.gadkari जी 271 जून 2022, सोमवार, सुबह 11:00 बजे जयपुर, राजस्थान में 1,357 करोड़ रुपए की लागत वाली 9 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे वहीं, दूसरी पोस्ट में कहा गया है ।

राजस्थान में 1,357 करोड़ रुपये की लागत वाली 9 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास

राजस्थान की आर्थिक प्रगति और देश की सामरिक मजबूती के लिए राज्य को इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं की सौगात देते हुए आज प्रदेश में 1,357 करोड़ रुपये की लागत वाली और 243 किमी लंबाई की 9 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का राजस्थान की मुख्य सचिव उषा शर्मा , मंत्री भजनलाल जाटव, भागीरथ चौधरी, रामचरण बोरा जी, देवजी पटेल, निहालचंद चौहान और अन्य गणमान्यों की उपस्थिती में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शिलान्यास और लोकार्पण किया।

राजस्थान की आर्थिक प्रगति और देश की सामरिक मजबूती के लिए हमारे दूरदर्शी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान को कई इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं की सौगात दी है। केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की पहल में आज कई ग्रीन फील्ड कॉरिडोर्स का निर्माण किया जा रहा है, जिसमें महत्वाकांक्षी दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे और अमृतसर-जामनगर एक्सप्रेस वे से राजस्थान की प्रगति को नई गति मिलेगी। इसी के साथ राजमार्गों का चौड़ीकरण, पुलों, आरओबी, बाईपास और रिंग रोड के निर्माण से राजस्थान समृद्धि की ओर तेजी से अग्रसर हो रहा है। उसी क्रम में आज 1,357 करोड़ रुपये की लागत से नौ परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया गया। 

गुजरात से राजस्थान से जोड़ने वाले खंड का चौड़ीकरण और लोकार्पण हुईं परियोजनाओं में गुजरात के दिसा को राजस्थान के बाड़मेर और जालौर जिले से जोड़ने वाली एनएच 168A पर सांचौर से निनवा खंड का चौड़ीकरण कार्य शामिल है। इससे जालौर जिले के ग्रेनाइट उद्योगों के व्यवसाय में वृद्धि होगी और किसानों की सूरतगढ़ मंडी तक पहुँच में आसानी होगी। 

राजस्थान का पंजाब से भी जुड़ाव आज शिलान्यास हुईं परियोजनाओं में राजस्थान को पंजाब से जोड़ने वाली एनएच 911 पर 670 करोड़ रुपये की लागत से श्रीगंगानगर से रायसिंहनगर 2 लेन का निर्माण कार्य और एनएच 62 पर सूरतगढ़ से श्रीगंगानगर सुदृढ़ीकरण कार्य शामिल है। इससे अंतर्राष्ट्रीय सीमा तक पहुँचना आसान होगा तथा सड़क के दोनों तरफ स्थित मिलिट्री स्टेशन टक पहुँचना सरल हो जाएगा, जो भारत की सामरिक शक्ति को बढ़ाएगा, जिससे तरक्की के नए आयाम खुलेंगे। 

कई क्षेत्रों को होगा लाभ सूरतगढ़ शहर में इंदिरा सर्किल पर 4 लेन फ्लाई ओवर के निर्माण से सुरक्षित जाम मुक्त यातायात सुनिश्चित होगा। एनएच 68 गांधव-सांचौर-गुजरात सीमा खंड के सुदृढ़ीकरण से राजस्थान और गुजरात के पर्यटन स्थल जैसलमेर और जोधपुर के बीच कनेक्टिविटी सुगम होगी। स्थानीय लोगों की आय बढ़ेगी। जालौर शहर में 1 किलोमीटर 4 लेन आरओबी के निर्माण से लेवल क्रॉसिंग के जाम से निजात मिलेगी। सुरक्षित सफर सुनिश्चित करने के लिए रेक्टीफिकेशन का काम भी शुरू किया जा रहा है। https://www.kooapp.com/koo/nitin.gadkari/5a95c958-1a38-439b-b01f-af9a98b160e3

पिंडवाड़ा-उदयपुर सेक्शन पर एलिवेटेड रोड और रि-अलाइनमेंट, जयपुर-किशनगढ़ खंड पर 6 फ्लाई ओवर, जयपुर-किशनगढ़ सेक्शन और किशनगढ़-अजमेर ब्यावर सेक्शन पर 6 फ्लाई ओवर और 2 वियूपी के निर्माण कार्य जैसी सराहनीय परियोजनाओं से ईंधन की बचत होगी, दुर्घटनाओं में कमी होगी, औद्योगिक, कृषि, परिवहन और पर्यटन क्षेत्रों को बढ़ावा मिलेगा। सशस्त्र बलों को सीमा से बेहतर कनेक्टिविटी मिलेगी, रोजगार बढ़ेगा और आत्मनिर्भर राजस्थान खुशहाली और प्रगति की ओर तेजी से अग्रसर होगा।