बेंगलुरू में आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर हिंसा

11

पुलिस फायरिंग में 3 की मौत, 2 इलाकों में कर्फ्यू, 110 से ज्यादा गिरफ्तार

बेंगलुरू। बेंगलुरु में मंगलवार की रात एक आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट को लेकर हिंसा हुई। एक पुलिस स्टेशन को आग के हवाले कर दिया। हालात को काबू करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। इसमें तीन लोगों की मौत हो गई। दो लोगों ने देर रात ही दम तोड़ दिया। वहीं, एक व्यक्ति की इलाज के दौरान बुधवार सुबह मौत हो गई। इस हिंसा में 60 से ज्यादा पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। इनमें एक एडिशनल पुलिस कमिश्नर भी शामिल हैं। हिंसा शहर के डीजे हल्ली और केजी हल्ली इलाके में हुई। फिलहाल यहां कफ्र्यू लगा दिया गया है। वहीं, पूरे बेंगलुरु में धारा 144 लगाई गई है। अब तक 110 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

सुलह की सलाह रास नहीं आई

पुलिस का कहना है कि कुछ लोग विवादित पोस्ट के मामले में शिकायत दर्ज कराने थाने पहुंचे थे। पुलिस ने उन्हें आपसी सुलह से विवाद निपटाने की सलाह दे दी। यह बात उन्हें रास नहीं आई और वे नारेबाजी करने लगे। देखते ही देखते पत्थरबाजी शुरू हो गई। इसके बाद भीड़ ने थाने और विधायक के घर तोडफ़ोड़ और आगजनी की।

क्यों हुई हिंसा?

आरोप है कि कांग्रेस के विधायक श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे नवीन ने पैंगबर मोहम्मद को लेकर एक आपत्तिजनक पोस्ट की। इससे मुस्लिम समुदाय नाराज हो गया। कमिश्नर कमल कांत ने बताया कि आरोपी नवीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि हिंसाग्रस्त इलाकों में अतिरिक्त बल तैनात किया गया है। उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कांग्रेस विधायक के घर के बाहर आगजनी की

कांग्रेस विधायक मूर्ति के घर पर तोडफ़ोड़ और बाहर आगजनी की गई। गाडिय़ों में आग लगा दी गई। विधायक ने लोगों से हिंसा नहीं करने की अपील की। उन्होंने वीडियो संदेश में कहा, मैं लोगों से अपील करता हूं कि कुछ उपद्रवियों की गलतियों के चलते हमें हिंसा में शामिल नहीं होना चाहिए।

विधायक के भतीजे ने कहा- आईडी हैक हो गई थी

कांग्रेस विधायक के भतीजे ने इस मामले में सफाई पेश की है। उसने कहा कि उसका फेसबुक अकाउंट हैक हो गया था। उसने किसी भी धर्म को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की है। विधायक मूर्ति ने भी भतीजे के बचाव में बयान जारी किया।