धूमधाम से मनाया पाश्र्वनाथ निर्वाण महोत्सव

45
निर्वाण महोत्सव

निकली भव्य शोभायात्रा

अजमेर। विद्यासागर तपोवन छतरी योजना में बने साक्षात सम्मेद शिखर तीर्थ पर गुरु महासंगम मति माताजी के पावन सानिध्य में भगवान पाश्र्वनाथ निर्वाण महोत्सव मनाया गया। निर्माण महोत्सव मनाने से पहले आनंद नगर जैन मंदिर से भव्य पालकी जुलूस प्रारंभ हुआ, जिसमें 24 भगवान 24 पालकी पर विराजमान थे।

भगवान पाश्र्वनाथ की मुख्य पालकी सुनील खटोड़ परिवार ने उठाई अन्य 23 पालकी को श्रद्धालुओं उठा कर पुण्य का अर्जन किया। भव्य जुलूस में 6 रथ में सवार बालिका एवं पारसमल शांता पाटनी परिवार बैठे थे। आनंद नगर से जुलूस मित्तल चैंबर्स पारसनाथ कॉलोनी छतरी योजना होते हुए विद्यासागर तपोस्थली पहुंचा।

निर्वाण महोत्सव

जुलूस के पहुंचते ही जय जयकार के नारे लगने लगे भगवान पाश्र्वनाथ निर्वाण महोत्सव में सुनील खटोड़ ने भगवान पाश्र्वनाथ प्रशांति धारा की एवं निर्वाण महोत्सव मोदक राजकुमार प्रदीप जयकुमार ऋषभ पाटनी ने अर्पित किया।

सत मार्ग ना छोड़ें

सुनील जैन कमल सुबोध संभव जैन को माल की बोली का पुण्य अर्जन मिला। संगम मति माताजी ने भगवान पास ना निर्वाण महोत्सव पर कहां की पारस मोक्ष को चले गए। उन्होंने क्षमा धर्म को धारण किया और कई उपसर्गों को धारण करते हुए मोक्ष को प्राप्त हुए हैं। भगवान पाश्र्वनाथ का मोक्ष कल्याणक पर्व हमें यही सिखाता है कि कठिन परिस्थितियों में सत मार्ग ना छोड़ें। उपवास करने वाली बालिकाओं को सम्मानित किया गया।

अध्यक्ष सुनील जैन महामंत्री महावीर अजमेरा, कमल बडज़ात्या, विपिन चांदीवाल, कमल सोगानी, मनीष पाटनी, गौरव पाटोदी, विशाल अजमेरा के सहयोग से कार्यक्रम सफल रहा।

यह भी पढ़ें : जयकारों के बीच मनाया मोक्ष कल्याणक