बीसीसीआई: स्टेडियम में प्रैक्टिस करने की मिली इजाजत, मगर ट्रेनिंग कैंप नहीं

7
cricket
cricket

बीसीसीआई की अपने अनुबंधित खिलाडिय़ों के लिए ट्रेनिंग शिविर आयोजन करने की कोई योजना नहीं है, लेकिन लॉकडाउन के चौथे चरण में वह राय संघों के साथ मिलकर स्थानीय स्तर पर अभ्यास शुरू करेगा।

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए भारत में लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ा दिया गया है, मगर चौथे लॉकडाउन में मोदी सरकार ने खिलाडिय़ों को राहत दी है। चौथे लॉकडउान में खिलाडिय़ों को प्रैक्टिस करने की इजाजत मिल गई है।

खिलाड़ी अब स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम में प्रैक्टिस के लिए जा सकेंगे। मगर इजाजत मिलने के बावजूद क्रिकेटर्स के लिए ट्रेनिंग कैंप नहीं लगाए जाएंगे। दरअसल बीसीसीआई की अपने अनुबंधित खिलाडिय़ों के लिए ट्रेनिंग शिविर आयोजन करने की कोई योजना नहीं है, लेकिन लॉकडाउन के चौथे चरण में वह राय संघों के साथ मिलकर स्थानीय स्तर पर अभ्यास शुरू करेगा।

बीसीसीआई को लॉकडउान में खिलाडिय़ों को प्रैक्टिस करने की इजाजत मिल गई है

गृह मंत्रालय के रविवार को जारी दिशानिर्देशों के अनुसार 31 मई तक बढ़ाए गए लॉकडाउन के दौरान स्टेडियम खोले जा सकते हैं, लेकिन दर्शकों को अंदर जाने की इजाजत नहीं होगी। इससे संकेत मिलते हैं कि खिलाड़ी व्यक्तिगत ट्रेनिंग शुरू कर सकते हैं। बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने सोमवार देर रात जारी प्रेस विज्ञाप्ति में कहा कि विमान सेवा और लोगों की आवाजाही पर 31 मई तक जारी पाबंदियों को देखते हुए बीसीसीआई अपने अनुबंधित खिलाडिय़ों के लिए कौशल आधारित ट्रेनिंग शिविर के आयोजन के लिए और इंतजार करेगा।

हालांकि स्थानीय स्तर पर ट्रेनिंग के लिए इंतजाम किए जा रहे हैं। धूमल ने कहा कि इस बीच बीसीसीआई राय स्तर पर दिशा-निर्देशों का अध्ययन करेगा और राय संघों के साथ मिलकर स्थानीय स्तर पर कौशल आधारित ट्रेनिंग कार्यक्रम का खाका तैयार करेगा।

बीसीसीआई की अपने अनुबंधित खिलाडिय़ों के लिए ट्रेनिंग शिविर आयोजन करने की कोई योजना नहीं है

उन्होंने कहा कि बीसीसीआई के पदाधिकारी टीम प्रबंधन के साथ बातचीत जारी रखेंगे और स्थिति में और सुधार होने पर पूरी टीम के लिए उपयु त योजना तैयार करेंगे। धूमल ने कहा कि खिलाडिय़ों की सुरक्षा बोर्ड के लिए सबसे बड़ी है।

बीसीसीआई राय स्तर पर दिशा-निर्देशों का अध्ययन करेगा

इस महामारी के कारण भारत में तीन हजार के करीब लोगों की जान गई है, जबकि 95 हजार से अधिक लोग इससे संक्रमित है। दुनिया भर में इस महामारी से तीन लाख 15 हजार से अधिक लोगों की जान गई है और संक्रमित व्यक्तियों का आंकड़ा 47 लाख से अधिक है।