पीएम मोदी ने केवडिया में देश की पहली सी-प्लेन सर्विस की शुरूआत की

6

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुजरात दौरे का आज दूसरा दिन है। मोदी ने नर्मदा जिले के केवडिया में देश की पहली सी-प्लेन सर्विस की शुरुआत की। उन्होंने दोपहर करीब 1 बजे खुद इसमें उड़ान भरी।

अब वे साबरमती रिवर फ्रंट पर उतर चुके हैं। अब वहां पर वाटर एरोड्रम की शुरुआत करेंगे। देश में आदमी के लिए सी-प्लेन की सुविधा देना मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट था। इसका किराया 1500 रुपए रखा गया है।

सी-प्लेन 220 किमी दूरी 45 मिनट में तय करेगा

यह सर्विस नर्मदा जिले के केवडिया से अहमदाबाद के साबरमती रिवर फ्रंट तक शुरू की गई है। सी-प्लेन से 220 किमी का सफर सिर्फ 45 मिनट में पूरा हो जाएगा। सी-प्लेन पानी और जमीन पर लैंड कर सकता है। इसके लिए रनवे की जरूरत भी नहीं होती।

इससे पहले मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सिविल सर्विसेज के ट्रेनी अफसरों को संबोधित किया। मोदी ने ट्रेनी अफसरों से कहा कि आने वाले 25 साल बेहद अहम हैं। आप पर बड़ी जिम्मेदारियां होंगी। देश को आत्मनिर्भर बनाने में भी योगदान देना है।

आजादी के 100 साल के काम पूरे करने की शुरुआत अभी से करें

मोदी ने कहा, जिस समय आप सिविल सेवा में आए हैं, वो बहुत खास है। आज जब फील्ड में जाना शुरू करेंगे, तब भारत स्वतंत्रता के 75वें साल में होगा। आप ही वो ऑफिसर्स हैं, जो उस समय में भी देशसेवा में होंगे, अपने करियर के महत्वपूर्ण पड़ाव पर होंगे, जब भारत आजादी के 100 साल मनाएगा। आने वाले 25 सालों में देश की सुरक्षा, लोगों का कल्याण, वैश्विक स्तर पर भारत का स्थान और कई बड़े काम आपके जिम्मे रहेंगे। ऐसे काम पूरे करने की शुरुआत अभी से करें।

मीडिया में दिखने के शौक से बचिए

आपको रूल्स और रोल पर लगातार फोकस करना है। इन्हीं का बैलेंस बनाकर चलना है। मीडिया में दिखास और छपास के रोग से दूर रहिए। ये रोग लगे तो विकास से दूर रह जाएंगे।

सपनों को कागज पर लिखिए

आज की रात सोने से पहले खुद को आधा घंटा जरूर दीजिए। मन में जो चल रहा है। अपने दायित्व के बारे में आप जो सोच रहे हैं, उसे लिख कर लिख लीजिए। जिस कागज पर अपने सपनों को शब्द देंगे, वह सिर्फ कागज का नहीं, बल्कि आपके दिल का टुकड़ा होगा। यह आपने सपनों को साकार करने के लिए धड़कन बनकर आपके साथ रहेगा।

जिम्मेदारियों को याद रखें

स्टील फ्रेम का काम देश को यह समझाना भी होता है कि बड़े से बड़े बदलाव क्यों न हो, आप देश को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देंगे। तरह-तरह के लोगों से घिरे रहने के बाद भी आपको दायित्व भूलना नहीं है। स्टील फ्रेम का ज्यादा प्रभाव तभी होगा, जब आप टीम में

सुरक्षाबलों को एकता की शपथ दिलवाई

प्रधानमंत्री एकता दिवस की परेड में शामिल हुए। इस परेड में गुजरात पुलिस, सेंट्रल रिजर्व आर्म्ड फोर्सेज, बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स, इंडो-तिब्बतन बॉर्डर पुलिस, सीआईएसएफ और नेशनल सिक्योरिटी गार्ड्स के जवानों ने हिस्सा लिया। मोदी ने जवानों को एकता की शपथ दिलवाई। इसके बाद कल्चरल प्रोग्राम हुए और एयरफोर्स के फाइटर जेट्स ने भी परफॉर्म किया।