राजस्थान निजी सहायक संवर्ग महासंघ सरकार को देगा अल्टीमेटम

29

प्रदेश कार्यकारिणी, जिलाध्यक्षों की विशेष बैठक में हुआ निर्णय

जयपुर। राजस्थान निजी सहायक संवर्ग महासंघ की प्रदेश कार्यकारिणी की विशेष बैठक शनिवार को जयपुर में आयोजित हुई । प्रदेशाध्यक्ष रमन पारीक ने बताया कि महासंघ द्वारा अधीनस्थ विभागों के स्टेनो कैडर की पदोन्नति एवं पदनाम परिवर्तन संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए लंबे अरसे से संघर्षरत है, किन्तु कार्मिक विभाग की सहमति के बाद भी पत्रावली पिछले छः महीने से वित्त (व्यय) विभाग में लंबित है। पत्रावली पर निर्णय नहीं होने से स्टेनो कैडर के बहुत से कार्मिक बिना पदोन्नति के सेवानिवृत्त हो रहे हैं। पूर्ण अनुशासन में रहकर कार्य करने वाले स्टेनो कैडर के कार्मिकों की पीड़ा अब असहनीय होती जा रही है।

महासंघ की मुख्य मांग है कि मंत्रालयिक लिपिक कैडर की भांति ही स्टेनो कैडर को भी रिव्यू किया जाकर पांच पदोन्नति के अवसर उपलब्ध कराए जाएं, 1997 बैच तक 9,18, 27 वर्ष का चयनित वेतनमान प्राप्त कार्मिकों के पदों को अग्रिम पद में क्रमोन्नत किया जावे, PS पद की ग्रेड पे में सुधार कर 6600 किया जावे, इसमें राज्य सरकार पर न के बराबर वित्तीय भार आएगा।

उपरोक्त मांगो पर सरकार कोई सुनवाई नहीं कर रही है I इसीलिए महासंघ ने आज की मीटिंग में आगामी रणनीति तय करते हुए सरकार को तीन महीने का अल्टीमेटम देने का निर्णय लिया है तथा शीघ्र ही मुख्य सचिव को ज्ञापन दिया जाएगा Iतीन महीने में सुनवाई नहीं होने पर जिला स्तर से आंदोलन तेज़ करने की कार्यवाही की जाएगी। बैठक में महासंघ के मुख्य सलाहकार मंडल के साथ ही जयपुर, सीकर, नागौर, कोटा, बीकानेर एवं भरतपुर जिलाध्यक्षों द्वारा भाग लिया गया।