सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक ने प्राइम मिनिस्टर स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत अपने पहले ऋण का वितरण किया

25

मुंबई। देश में सबसे तेजी से विकसित हो रहे स्मॉल फाइनेंस बैंकों में से एक, सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक ने आज पीएम एसवीए निधि योजना के तहत अपने पहले ऋण के वितरण की घोषणा की। इस योजना के प्रावधान के अनुरूप, आशा अशोक वाल्मीकि को 10000/- रुपये का लोन दिया गया, जो पेशे से एक सब्जी विक्रेता हैं। बैंक ने यह सुनिश्चित किया कि, लोन को मंजूरी देने तथा लोन के पैसे की निकासी की प्रक्रिया पूरी तरह डिजिटल और परेशानी मुक्त हो।

इस मौके पर सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक के एमडी एवं सीईओ, आर. बास्कर बाबू ने कहा, हमें इस बात का गर्व है कि, हम माननीय प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण के अनुरूप पीएम स्वनिधि योजना के तहत रेहड़ी-पटरी वालों को छोटे पूंजीगत ऋण उपलब्ध कराने की मुहिम का हिस्सा बन चुके हैं। इस योजना का उद्देश्य एक आत्मनिर्भर परिवेश का निर्माण करना तथा इस महामारी से उत्पन्न संकट के बाद उनकी जिंदगी को पटरी पर लाने में मदद करना है।

हमने हमेशा से अपने ग्राहकों को विश्वस्तरीय बैंकिंग सुविधाओं का अनुभव प्रदान करने, तथा उन्हें पूरी तरह आर्थिक स्थिरता प्राप्त करने में मदद करने का प्रयास किया है। महामारी के इस दौर में सरकार ने आगे बढ़कर सबसे ज्यादा प्रभावित लोगों और व्यवसायों के लिए विभिन्न पहलों की घोषणा की है, और हमें खुशी है कि हमने अपने स्तर से इस मुहिम में योगदान दिया है।

सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक, अपनी स्थापना के बाद से ही विभिन्न प्रकार के वित्तीय उत्पादों और सेवाओं को लगातार विकसित कर रहा है और इसे बेहतर बना रहा है ताकि बैंकिंग की सुविधाओं से वंचित लोगों की जरूरतों को पूरा किया जा सके। इसके अलावा, बैंक की ओर से उन्हें बचत एवं निवेश के विभिन्न विकल्पों, सरकारी बीमा योजनाओं तथा डिजिटल बैंकिंग के अलग-अलग माध्यमों के बारे में शिक्षित किया जा रहा है।

सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक परिसंपत्ति और देनदारियों, दोनों मामले में बेहतर स्थिति में है। वर्तमान में स्स्स्नक्च के पास जमा-राशि का आधार लगभग 3000 करोड़ रुपये का है और कुल मिलाकर इसका लोन पोर्टफोलियो तकरीबन 3700 करोड़ रुपये का है।

तुलनात्मक रूप से देखा जाए तो, स्स्स्नक्च इस उद्योग जगत में जमा राशि पर अधिकतम ब्याज दरों में से एक प्रदान करता है। वर्तमान में, बचत खाते पर ब्याज दर 6.25 प्रतिशत तक है, जबकि ग्राहक एफडी पर 7.50 प्रतिशत तक की ब्याज दर प्राप्त कर सकते हैं। वरिष्ठ नागरिकों के लिए ब्याज दर 8 प्रतिशत है।