टाटा मोटर्स ने ट्रक ड्राइवरों और फ्लीट ऑपरेटरों को आपूर्ति चालू रखने के लिए दिया सम्पूर्ण सहयोग

6
टाटा मोटर्स, tata motors
टाटा मोटर्स, tata motors

भारत की सबसे बड़ी वाणिज्यिक वाहन विनिर्माता कंपनी, टाटा मोटर्स हमेशा ही परिवहन तंत्र में व्यापक सहयोग करता रहा है ताकि पूरे देश में आवश्यक आपूर्तियां निर्बाध रूप से चलती रहें। मौजूदा अभूतपूर्व वक्तमें ट्रक ड्राइवरों, छोटे ट्रांसपोर्टरों, मंझोले ट्रांसपोर्ट ऑपेरटरों और फ्लीट मालिकों के साथ करीबी स्तर पर काम करते हुए टाटा मोटर्स ने परिवहन की मूल्य शृंखला की हर कड़ी में मौजूद और पनप रही परेशानियों का पता लगाया तथा सबसे कारगर और कार्यकुशल तरीके से उनके समाधान में सहयोग किया।

टाटा मोटर्स के सम्पूर्ण परिचालन नेटवर्क में जगह-जगह सुविधा केन्द्रों पर भोजन, मास्क और सेनिटाइजर की व्यवस्था की है

ट्रक ड्राइवरों और ट्रांसपोर्टरों के साथ सहयोग
देश भर में वस्तुओं की ढुलाई करने वाले अग्रिम पंक्ति के बहादुर ट्रक ड्राइवरों के लिए टाटा मोटर्स के सम्पूर्ण परिचालन नेटवर्क में जगह-जगह स्थित अनेक ‘सारथी आराम केन्द्रों’ में और पूरे देश में सबसे व्यस्त राष्ट्रीय एवं राज्य हाईवेज पर स्थित इंडियन ऑयल कंपनी के सुविधा केन्द्रों पर भोजन, मास्क और सेनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। इन सुविधाओं और सेवाओं की पेशकश से कई हजार ट्रक ड्राइवरों को लाभ हुआ। लॉकडाउन के दौरान सम्पूर्ण देश के ट्रक ड्राइवरों और ट्रांसपोर्टरों के लिए एक समर्पित 24.7 हेल्पलाइन 1800 209 7979 स्थापित की गई।

यह भी पढ़ें-टाटा मोटर्स लेकर आया फ्रंटलाइन वॉरियर्स के लिये ‘कीज टू सेफ्टी’ पैकेज ऑफर

प्राप्त अनुरोधों पर त्वरित कार्यवाही के लिए 900 आपात प्रतिक्रिया दलों का गठन करके प्रमुख ट्रांसपोर्ट केन्द्रों और मार्गों में उपयुक्त स्थानों पर तैनात किया गया। इन दलों में 4,000 प्रशिक्षित और अनुभवी टैक्निशियन शामिल थे जिन्हें देश भर में फैले टाटा मोटर्स के 1400 वर्कशॉप से चुना गया था। वाहनों के तीव्र टर्नअराउंड के लिए उन्हें शीघ्र सुलभ स्पेयर पार्ट्स से भरे 21 गोदामों का समर्थन प्राप्त था। वाहनों से स बंधित सहायता के लिए 10,000 से अधिक अनुरोध प्राप्त हुए जिनका फौरन समाधान किया गया ताकि आपूर्तियों का पहिया चलता और आगे बढ़ता रहे।

अपेक्षित मरम्मत और साफ़-सफाई की मदद देने के लिए वर्कशॉप्स को मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) की नई व्यवस्था के साथ यथासंभव जल्द से जल्द चालू किया गया। ग्राहकों के साथ व्यवहार करते समय इन स्पष्ट निर्धारित न्यूनतम पारस्परिक क्रिया, व्यावहारिक सामाजिक दूरी का पालन, वाहन संपर्क और सेनिटाइजेशन आदि का पालन किया गया।

राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान वाणिज्यिक वाहनों की समाप्त होने वाली वारंटीज का समय आगे बढ़ा दिया गया है। इसी प्रकार, ग्राहकों के फायदे के लिए टाटा सुरक्षा वार्षिक अनुरक्षण अनुबंधों की समय-सीमा भी बढ़ा दी गयी है।

इस पहल के विषय में आर. रामकृष्णन, ग्लोबल हेड-कस्टमर केयर, सीवीबीयू, टाटा मोटर्स लिमिटेड ने कहा कि, ट्रक ड्राइवर और ट्रांसपोर्टर अग्रिम पंक्ति के हीरो हैं जैसा की उन लोगों ने सभी आपूर्तियों के निर्बाध परिवहन के साथ देश की गति जारी रखने में शानदार भूमिका का निर्वहन किया है। भारत के अग्रणी वाणिज्यिक वाहन विनिर्माता होने के नाते, उनमें से अधिकतर लोग हमारे वाहनों का प्रयोग करते हैं और सहायता के लिए हम ही उनकी पहली पसंद हैं। इस अभूतपूर्व समय में हम एक प्रतिबद्ध सहयोगी के रूप में उन्हें और उनके वाहनों को सभी संभव मदद पहुंचा रहे हैं। हमने उनके कठिन कार्य और जीवन को कुछ आसान बनाने के लिए अपनी कोशिशों में एक समग्रतापूर्ण दृष्टिकोण अपनाया है।