जैतून तेल की डिमांड बढ़ेगी, मंत्री बोले- एक्सपोर्ट बढ़ाने के लिए किसान आगे आएं

10

एक्सपोर्ट कॉन्क्लेव प्रदर्शनी में एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट के 17 लाइसेंस बने

बीकानेर। एक दिवसीय मेगा कॉन्क्लेव प्रदर्शनी में जिले के 17 उद्यमियों ने मौके पर ही एक्सपोर्ट-इंपोर्ट के लाइसेंस बनाए। प्रदर्शनी का उद्घाटन करने पहुंचे केन्द्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए मौजूद उद्यमियों को प्रोत्साहित किया। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में जैतून तेल की डिमांड बढ़ेगी। ऐसे में यहां के किसानों को जैतून की खेती के लिए आगे आना चाहिए।

उन्होंने बताया कि लूणकरणसर में जैतून तेल की रिफाइनरी का फायदा यहां किसानों को अवसर के रूप में उठाना चाहिए। बीकानेर जिला उद्योग संघ परिसर में आयोजित मेगा कॉन्क्लेव प्रदर्शनी में बीकानेर जिले सहित अन्य जिलों और महानगरों के उद्यमियों ने भी हिस्सा लिया। इस अवसर पर बीकानेर के दस्तकार एवं उद्यमियों ने अपने उत्पादों की स्टॉल लगाई, जिसका मंत्री ने अवलोकन किया। उन्होंने बताया कि वूलन इंडस्ट्रीज के लिए पांच करोड़ रुपए लागत से कॉमन फैसेलिटी सेंटर की स्थापना होने जा रही है जिसका सौ फीसदी अनुदान केन्द्र सरकार देगी।

बीकानेर से एक्सपोर्ट को लेकर चर्चा

कॉन्क्लेव में एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल फोर हैंडीक्राफ्ट के पूर्व अध्यक्ष लेखराज महेश्वरी ने बताया कि बीकानेर से एक्सपोर्ट की असीम संभावनाएं हैं। उन्होंने हस्तशिल्प कला को विदेशों तक पहुंचाने में उसकी मार्केटिंग करने पर जोर दिया। इसी प्रकार विदेश व्यापार महानिदेशालय के संयुक्त निदेशक चन्द्र कांत मिश्रा ने एक्सपोर्ट लाइसेंस बनाने, वूल टैक्स मुंबई के केके शर्मा ने ऊनी गलीचे, एक्सपोर्ट क्रेडिट गारंटी ऑफ इंडिया के आशीष वर्मा ने उद्योग बीमा कवर के बारे में बताया।

प्रदर्शनी में बीकानेर जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष डीपी पचीसिया, राजस्थान वूलन इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष कमल कल्ला, जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा, अहमदाबाद के भंवर लाल झंवर, कोलकाता से हरि किसन डागा, सीएम मूंधड़ा चेरिटेबल ट्रस्ट के श्रीकिसन मूंधड़ा, मुरली झंवर, ओमप्रकाश करनानी आदि शामिल थे।

यह भी पढ़े-योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए अधिकारियों को दिए सघन मॉनीटरिंग के निर्देश