टाटा मोटर्स ने भारत का सबसे बड़ा टिपर ट्रक सिग्ना 4825.टीके पेश किया

91

मुंबई। भारत के अग्रणी वाणिज्यिक वाहन उत्पादक टाटा मोटर्स ने सिग्ना 4825.टीके के लॉन्च की घोषणा की है, जो कोयले और निर्माण सामग्री के सरफेस ट्रांसपोर्ट के लिये भारत का पहला 47.5-टन मल्टी-एक्सल टिपर ट्रक है। 29 क्युबिक मीटर बॉक्स लोड बॉडी के साथ सिग्ना 4825.टीके का बेजोड ग्रॉस व्हिकल वेट हर ट्रिप में ज्यादा लोड की अनुमति देता है। नया लॉन्च हुआ यह टिपर ट्रक उच्च उत्पादनशीलता और तेज टर्नअराउंड की ग्राहक की जरूरत पूरी करने के लिये खासतौर से डिजाइन किया गया है। इसका विकास टाटा मोटर्स की पावर ऑफ 6 फिलोसॉफी के आधार पर हुआ है और यह उन्नत प्रदर्शन, उच्च पेलोड क्षमता, स्वामित्व के लिए कम लागत, ड्राइवर के लिये अधिक सहजता और सुरक्षा की पेशकश करता है।

सिग्ना 4825.टीके में क्युमिन्स आईएसबीई 6.7-लीटर बीएस 6 इंजिन है, जिसकी 250 एचपी पावर उच्च रेटिंग है और 1000-1700 आरपीएम से 950 एनएम टॉर्क रेटिंग है, जो तेज टर्नअराउंड टाइम सुनिश्चित करती है। इस शक्तिशाली इंजिन के लिये एक हैवी ड्यूटी जी 1150 9-स्पीड गियरबॉक्स और 430 एमएम डिया ऑर्गेनिक क्लच है। गियर रेशिओ खासतौर से सरफेस ट्रांसपोर्टेशन के लिये डिजाइन किये गये हैं और जिससे ईंधन की कम खपत होती है। इस टिपर ट्रक में 3 अलग ड्राइव मोड्स हैं- लाइट, मीडियम और हैवी, जो भार और क्षेत्र के आधार पर पावर और टॉर्क का सही चयन सुनिश्चित करते हैं, ताकि कम ईंधन में ज्यादा काम हो। यह 29 क्युबिक मीटर टिपर बॉडी और हाइड्रोलिक्स के साथ एक फैक्ट्री-बिल्ट, उपयोग के लिये तैयार वाहन के तौर पर आया है। सिग्ना 4825.टीके दो कॉन्फिग्यरेशंस में उपलब्ध है: 10&4 और 10&2 जो ग्राहक को उनकी जरूरत के अनुसार चयन की सुविधा देते हैं।

सिग्ना 4825.टीके के लॉन्च पर आर.टी. वासन, वाइस प्रेसिडेन्ट, प्रोडक्ट लाइन, एम एंड एचसीवी, टाटा मोटर्स ने कहा कि टाटा मोटर्स ने बीएस 6 पर क्रियान्वयन का अवसर पाकर उत्सर्जन के नियमों को कठोर बनाया है, समूची उत्पाद-सूची को असलियत में अपग्रेड किया है और प्रदर्शन, परिचालन क्षमता, सहजता और सुरक्षा के लिये नये मापदंड स्थापित कर ग्राहक की आवश्यकता से ताल-मेल बैठाया है।

हम निर्माण और कोयला उद्योग से आने वाले और बड़े प्रोजेक्ट्स को समय से पहले पूरा करने की इच्छा रखने वाले ग्राहकों की जरूरतों को समझकर सिग्ना 4825.टीके प्रस्तुत करते हुए प्रसन्न हैं और हमने 47.5 टन के ग्रॉस व्हिकल वेट वाला भारत का पहला टिपर विकसित किया है। हमने हमेशा देश की बदलती जरूरतों और मांगों के अनुसार सर्वश्रेष्ठ उत्पादों की आपूर्ति का प्रयास किया है। अपनी पावर ऑफ 6 फिलोसॉफी के माध्यम से हम उद्योग-प्रथम उत्पादों और समाधानों की पेशकश जारी रखेंगे और कार्गो तथा कॉन्सट्रक सेगमेंट्स में अपनी स्थिति को मजबूत करेंगे।

यह भी पढ़ें-मारुति सुजुकी ऑल्टो 40 लाख भारतीय परिवारों की पसंदीदा कार बनी

इसके अलावा बड़ा स्लीपर केबिन, झुका हुआ और टेलीस्कोपिक स्टीरिंग सिस्टम, 3-वे मेकैनिकली-एडजस्टेबल आरामदेय ड्राइविंग सीट और सरलता से बदले जा सकने वाले गियर्स जैसे उन्नत फीचर्स भी इसमें हैं। सिग्ना 4825.टीके का लटकता हुआ केबिन एनवीएच के कम गुणों की गारंटी देता है और खुरदरी सड़कों पर भी आरामदेय यात्रा करवाता है। इसका शक्तिशाली एयर कंडीशनिंग सिस्टम हर मौसम में आरामदेय ड्राइविंग सुनिश्चित करता है। दुर्घटना के लिये परीक्षण किया हुआ केबिन, सीट की ऊँचाई, डेलाइट की ज्यादा बड़ी ओपनिंग, पीछे दिखाने वाला मिरर, ब्लाइंड स्पॉट मिरर, ठोस स्टील का 3-पीस बंपर इसे देश के सबसे सुरक्षित टिपर्स में से एक बनाते हैं।

प्रौद्योगिकी से चालित यह टिपर ट्रक नई पीढ़ी के फीचर्स की पेशकश भी करता है, जैसे हिल स्टार्ट असिस्ट (एचएसए), इंजिन ब्रेक और आईसीजीटी ब्रेक, ताकि वाहन पर नियंत्रण बेहतर हो और परिचालन की लागत कम हो। पूर्णतया निर्मित इस टिपर में सेंसर वाला एडवांस्ड इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम है, जो टिपिंग के समय संभावित ढलान का पता लगाकर उसे रोकता है, ताकि ड्राइवर और ऑपरेटर को ज्यादा सुरक्षा मिले। इसमें फ्लीट एज का स्टैण्डर्ड फिटमेन्ट भी है- उच्चतम फ्लीट प्रबंधन के लिये टाटा मोटर्स का अगली पीढ़ी का डिजिटल सॉल्यूशन, जो अपटाइम को बढ़ाता है और स्वामित्व के खर्च को कम करता है।

टाटा मोटर्स एम एंड एचसीवी ट्रकों की संपूर्ण श्रृंखला 6 साल/ 6 लाख कि.मी. की उद्योग में सर्वश्रेष्ठ वारंटी के साथ आती है। टाटा मोटर्स संपूर्ण सेवा 2.0 और टाटा समर्थ की पेशकश भी करता है- यह प्रत्येक एम एंड एचसीवी के साथ वाणिज्यिक वाहन के चालक के कल्याण, अपटाइम की गारंटी, ऑन-साइट सर्विस और व्यक्तिपरक वार्षिक रख-रखाव तथा फ्लीट प्रबंधन समाधानों के लिये कंपनी की प्रतिबद्धता है।