आज कोरोना के 170 पॉजिटिव केस, 2 की मौत

6

अलवर में सबसे ज्यादा 40 पॉजिटिव मिले, जयपुर में 33 और उदयपुर में 31 संक्रमित

जयपुर। राजस्थान में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। शनिवार को कोरोना के 170 नए मामले सामने आए। इनमें अलवर में 40, जयपुर में 33, उदयपुर में 31, नागौर में 21, भरतपुर में 17, सवाई माधोपुर और राजसमंद में 7-7, झुंझुनू, बाड़मेर, प्रतापगढ़ और करौली में 3-3, कोटा और टोंक में 1-1 संक्रमित मिले।
जिसके बाद कुल पॉजिटिव का आंकड़ा 23344 पहुंच गया। वहीं 2 लोगों की मौत भी हो गई। इनमें अजमेर और जयपुर में 1-1 व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। जिसके बाद कुल मृतकों की संख्या 499 पहुंची।

इससे पहले शुक्रवार को कोरोना के 611 नए केस सामने आए। इनमें अलवर में 126, जोधपुर में 114, पाली में 71, बाड़मेर में 49, जयपुर में 46, अजमेर में 36, बीकानेर में 35, भरतपुर में 25, चूरू में 15, हनुमानगढ़ में 13, नागौर में 12, धौलपुर में 9, सीकर में 8, कोटा और झुंझुनू में 7-7, करौली में 6, सिरोही और जालौर में 5-5, राजसमंद में 4, श्रीगंगानगर में 4, उदयपुर और सवाई माधोपुर में 3-3, डूंगरपुर, बूंदी और चित्तौडग़ढ़ में 2-2, झालावाड़ और टोंक में 1-1 संक्रमित मिले। वहीं, 6 लोगों की मौत हो गई। इनमें बीकानेर में 3, अजमेर, भरतपुर और सवाई माधोपुर में 1-1 की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें-कोविड-19 से सबसे बुरा स्वास्थ्य और आर्थिक संकट बढ़ा

5211 एक्टिव केस

राज्य में अब तक कुल 10 लाख से ज्यादा सैंपल जांचे गए हैं। इनमें अब तक कुल 23344 पॉजिटव मिले हैं। वहीं, 17634 लोग रिकवर हो चुके। जिसमें से 1727286 को डिस्चार्ज किया जा चुका है। अब राज्य में कुल 5211 एक्टिव केस ही बचे हैं।

अब तक 499 लोगों की मौत

राजस्थान में कोरोना से अब तक 499 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 169 की मौत हुई। इसके अलावा, जोधपुर में 65, भरतपुर में 41, कोटा में 26, अजमेर में 24, बीकानेर में 18, नागौर में 15, धौलपुर में 11, पाली में 15, सवाई माधोपुर में में 8, सिरोही और सीकर में 7-7, अलवर, चित्तौडग़ढ़ और भीलवाड़ा में 6-6, उदयपुर में 5, बाड़मेर, करौली और बारां में 4-4, जालौर, झुंझुनू, गंगानगर और दौसा में 3-3, चूरू और बांसवाड़ा 2-2, डूंगरपुर, राजसमंद, प्रतापगढ़ और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं, दूसरे राज्य से आए 31 व्यक्ति की भी मौत हुई है।

स्कूलों में फीस माफी मामले में सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार याचिकाकर्ताओं को हाईकोर्ट जाने की सलाह

कोरोना की वजह सेे देशभर के प्राइवेट स्कूलों में तीन महीने की फीस माफ किए जाने की मांग को लेकर दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई से इनकार कर दिया। चीफ जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस आर सुभाष रेड्डी और एएस बोपन्ना की पीठ ने याचिकाकर्ता सुशील शर्मा व अन्य को कहा कि सभी राज्यों की स्थिति अलग-अलग है।
सीजेआई ने कहा कि यह हमारे लिए समस्या है कि पूरे देश के स्कूलों के लिए एकमुश्त तौर पर कौन निर्णय लेगा। याचिकाकर्ताओं ने दलील दी कि पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने प्राइवेट स्कूलों को बढ़ी हुई फीस वसूलने की अनुमति दे दी है। इस पर सीजेआई बोबडे ने कहा कि आदेश के खिलाफ विशेष अनुमति याचिका दायर की जा सकती है। उन्होंने कहा कि हम फिलहाल इस याचिका को सुनने के पक्ष में नहीं हैं।

उधर, राजस्थान सरकार कह चुकी है कि जब तक स्कूल न खुलें तब तक फीस न मांगी जाए। इसे लेकर शिक्षकों ने प्रदर्शन शुरू किया है। उनका कहना है कि फीस नहीं दी जाएगी तो वेतन कैसे मिलेगा? ऐसे में राज्य सरकार, निजी स्कूलों व अभिभावकों को मिलकर समाधान निकालने की जरूरत है।