यूएस ओपन चैम्पियन की प्राइज मनी पिछले साल के मुकाबले इस साल 6.36 करोड़ कम मिलेगी

12

2019 में यूएस ओपन में हिस्सा लेने वाले खिलाडिय़ों को प्राइज मनी के तौर पर कुल 427 करोड़ रुपए दिए गए थे

नई दिल्ली। कोरोनावायरस के कारण इस साल यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट के प्राइज मनी में कटौती की गई है। मेंस और वुमेंस सिंगल्स चैंपियन को 2020 में इनाम के तौर पर 3 मिलियन डॉलर (करीब 22 करोड़ 54 लाख रुपए) मिलेंगे। इसमें पिछले साल के मुकाबले 8.50 लाख डॉलर (करीब 6 करोड़ 36 लाख रुपए) की कटौती की गई है। यानी 22 प्रतिशत की कटौती। यूएस टेनिस एसोसिएशन (यूएसटीए) ने बुधवार को यह जानकारी दी।

यूएसटीए के मुताबिक, इस साल टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाले खिलाडिय़ों को कुल 53.4 मिलियन (करीब 399 करोड़ रुपए) राशि इनाम के तौर पर दी जाएगी, जोकि पिछले साल $57.2 मिलियन (करीब 427 करोड़ रुपए) से करीब 7 फीसदी कम है। हालांकि, टूर्नामेंट के सिंगल्स के फस्र्ट राउंड में हिस्सा लेने वाले खिलाडिय़ों को मिलने वाली प्राइज मनी में पिछले साल के मुकाबले 5 फीसदी का इजाफा हुआ है।

फस्र्ट राउंड की प्राइज मनी में इजाफा हुआ

पिछले साल खिलाडिय़ों को $58,000 (करीब 43 लाख रुपए) मिलते थे, जबकि इस साल 61,000 (करीब 45 लाख रुपए) मिलेंगे। वहीं, दूसरे और तीसरे राउंड तक पहुंचने वाले खिलाडिय़ों को मिलने वाली प्राइज मनी में कोई बदलाव नहीं हुआ। इन्हें पहले की तरह ही 100,000 (करीब 75 लाख रुपए) और $163,000 (करीब एक करोड़ 22 लाख रुपए) मिलेंगे।

यूएस ओपन सिंगल्स के उप विजेता को 11 करोड़ रुपए मिलेंगे

इसके बाद के हर राउंड में प्राइज मनी में कटौती की गई है। सिंगल्स के चौथे राउंड में पहुंचने वाले खिलाड़ी को पिछले साल के 280,000 (करीब 2 करोड़ 9 लाख रुपए) के मुकाबले इस साल $250,000 (करीब 1 करोड़ 87 लाख रुपए) मिलेंगे। वहीं, इस साल के उप विजेता को भी पिछले साल के $1.9 मिलियन (14 करोड़ 26 लाख रुपए) के मुकाबले इस साल $1.5 मिलियन (करीब 11 करोड़ 22 लाख रुपए) की इनामी राशि मिलेगी।

नडाल, फेडडर और बार्टी यूएस ओपन में नहीं खेलेंगे

इधर, कई टॉप रैंक खिलाड़ी टूर्नामेंट से नाम वापस ले चुके हैं। इसमें नया नाम डिफेंडिंग चैम्पियन राफेल नडाल का है। उन्होंने एक दिन पहले ही कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए टूर्नामेंट में न खेलने का फैसला किया। नडाल ने ट्वीट कर कहा कि मैंने बहुत सोचने के बाद इस साल यूएस ओपन टूर्नामेंट में न खेलने का फैसला किया। कोरोना के कारण दुनिया भर में स्थिति बहुत खराब है, कोविड-19 के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसा लग रहा है कि जैसे हमारा इस पर कोई नियंत्रण नहीं। उनसे पहले महिलाओं में दुनिया की नंबर-1 खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी, वर्ल्ड नंबर-4 रोजर फेडरर और निक किर्गियोस भी टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले चुके हैं।