‘हम फिर चुनकर आएंगे, भाजपा-शिंदे गुट का गठबंधन अस्थाई’

178

महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन के बाद संजय राउत एकबार फिर से मीडिया के सामने आए। इस दौरान उन्होंने भाजपा और शिंदे गुट के गठबंधन के जमकर हमला बोला। राउत ने कहा कि भाजपा और शिंदे गुट का गठबंधन एक अस्थायी व्यवस्था है, वे लोगों के पास नहीं जा सकेंगे। वे जब शिवसेना में थे तब शेर थे लेकिन अब डर के मारे सुरक्षा के साथ घुम रहे हैं। राउत ने कहा कि कसाब के पास भी इतनी सुरक्षा नहीं थी लेकिन जितनी कि बागी एमएलए को दी गई है। आप किससे डरते हैं ? क्यों डर रहे हैं?


लोग आते हैं जातें हैं, हम दोबारा चुनकर आएंगे


हमारी पार्टी कमजोर नहीं होगी, ऑक्सीजन हमारी शक्ति नहीं है। हम इसीलिए मजबूत नहीं हैं क्योंकि हम सत्ता में हैं, हम मजबूत हैं इसलिए सत्ता में हैं। लोग आते हैं जातें हैं। राउत ने बागी नेताओं के बारे में बात करते हुए कहा कि उन्होंने हमारी पार्टी में शामिल होने का विकल्प चुना और बाहरी ताकतों के कारण चले गए। हम गांवों में जाएंगे, अन्य लोगों को अपनी पार्टी में शामिल करेंगे। हमें भरोसा है कि हमलोग दोबारा चुनकर आएंगे।

बदले की भावना से हमारी पार्टी को तोड़ी गई


राउत ने कहा कि बदले की भावना से हमारी पार्टी को तोड़ी गई है। पार्टी को कमजोर करने की कोशिश की जा रही है। राउत ने कहा कि विधायकों का जाना अस्थायी है। वे धोखा खाने के बाद फिर से मूल पार्टी में लौटकर आएंगे।

एकनाथ शिंदे की सरकार बरकरार

महाराष्ट्र में आज एकनाथ शिंदे ने फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित कर दिया। इसी के साथ ये भी तय हो गया कि अब एकनाथ शिंदे की सरकार बरकरार रहेगी। फ्लोर टेस्ट में शिंदे के पक्ष में 164 मत पड़े। विपक्ष में 99 विधायकों ने वोट डाला। एनसीपी और कांग्रेस के सात विधायक वोटिंग में शामिल नहीं हुए।