बद्रीनाथ धाम के कपाट खुले, अभिषेक भी किया

7
बद्रीनाथ धाम, badrinath
बद्रीनाथ धाम, badrinath

बद्रीनाथ धाम/उत्तराखंड । बद्रीनाथ धाम के कपाट शुक्रवार सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर खोल दिए गए। मुख्य पुजारी समेत 28 लोग थे मौजूद रहे। कोरोना वायरस का कहर देश में लगातार जारी है। इसी वजह से देश में लॉकडाउन जारी है। लेकिन, इसी बीच एक राहत भरी खबर भी सामने आई है।

बद्रीनाथ धाम के कपाट शुक्रवार सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर खोल दिए गए।

इसके साथ ही भगवान बद्रीनाथ का अभिषेक भी किया गया। कोरोना वायरस के चलते सभी जरूरी नियमों का पालन के साथ सभी कार्य विधि पूरी की गईं। मंदिर को खोले जाने के मद्देनजर परिसर को फूलों से भव्य रूप से सजाया गया है।

बदरीनाथ के कपाट खुलने की प्रक्रिया बुधवार से शुरू हुई थी।

बुधवार से भगवान बदरीनाथ के कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू हुई थी। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश का संबोधित किया था। पीएम मोदी ने कहा था, लॉकडाउन चौथी बार बढ़ाया जाएगा। लेकिन, इस बार लॉकडाउन पूरी तरह अलग होगा। इस लॉकडाउन में कई तरह की छूटें ओर रियायतें मिलेंगी।

गायक सांवरमल संतोष ने दी ऑनलाइन भजनों की प्रस्तुति
चुरू जिले की धोरों की धरती जो सर्दी व गर्मी में अपना तापमान में रिकॉर्ड कायम रखने के लिए चर्चित हैं वहीं हरियाणा राजस्थान की सीमा पर स्थित सादुलपुर राजगढ़ में जन्मे लोगों ने देश-विदेश में नाम रोशन किया तोइस धरती पर जन्म में लोक कलाकारों ने भी अपना नाम रोशन कर आमजन हृदय पटल पर अपनी मधुर वाणी से राज किया है।

सादुलपुर राजगढ़ शहर की सुप्रसिद्ध माता मंडी स्थित निवासी जाने-माने बहुचर्चित लोक गायक सांवरमल कत्थक एवं महिला गायक संतोष रानी कत्थक ने जय भैरव नाथ, जय मां करणी, श्याम बाबा, जय हनुमान, भगवान शिव, जय श्री बालाजी आदि के भजन सोशल मीडिया पर ऑनलाइन पर प्रस्तुत देकर लॉकडाउन संकट के समय घर में बैठे लोगों को देवी देवताओं की तरफ ध्यान आकर्षित कर भजनों का आनंद लिया।

दोनों गायक सांवरमल कत्थक एवं संतोष रानी कत्थक रिश्ते में पति-पत्नी हैं तथा फेसबुक पर लाइव आकर साज बाज के साथ राधे शहरवासियों से वाहवाही लूटी तथा जनता ने मु त कंठ से सराहना करते हुए दोनों का आभार यक्त करते हुए धन्यवाद दिया।