सामूहिक विवाह सम्मेलन में तीन समाजों के 14 जोड़ों ने थामा एक-दूसरे का हाथ

20

संत रविदास सेवा विकास समिति के तत्वावधान में हुआ तृतीय आदर्श सामूहिक विवाह सम्मेलन

भरतपुर। संत रविदास सेवा विकास समिति की ओर से तृतीय आदर्श सामूहिक विवाह सम्मेलन में तीन समाजों की 14 बेटियों ने जीवन साथी का हाथ थामा है। शुक्रवार को अंबेडकर पार्क में संविधान निर्माता डा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण के बाद मेला मैदान से 14 दुल्हों की डीजे के साथ मुख्य बाजार से होकर सामूहिक रूप से निकासी निकाली गई। इसके बाद डीग रोड स्थित लक्ष्मी पैलेस मैरिज होम में वरमाला के बाद नवविवाहिता युवक, युवतियों का बौद्व रीति रिवाज से पाणिग्रहण संस्कार कराया गया।

कार्यक्रम के दौरान वर, वधू के परिजन व रिश्तेदारों ने सामूहिक सहभोज का आनंद लिया। शाम को 14 जोडों को विदाई दी गई। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि शिक्षाविद रामहंस खोलिया, पूर्व शिक्षाविद सरोज वर्मा, विक्रम एडवोकेट व अभिभाषक संघ के पूर्व अध्यक्ष विजय राम थे। अंत में समिति अध्यक्ष लालचन्द तैनगुरिया ने उपस्थित अतिथियों का आभार जताया।

वर-वधू को यह मिला सामान

सामूहिक विवाह सम्मेलन में नवविवाहिता वर व वधू को एक आलमारी, एक एलईडी, 2 कुर्सी, 1 बेड, 1 पंखा, 1 प्रेस, 21 बर्तन, एक घडी, कपडे, सोने व चांदी की चैन, अंगूठी, पायजेब, बाली आदि सामान दिया गया। कार्यक्रम में 14 नवविवाहित जोडो में एक जांगिड समाज, एक राजपूत व 12 जाटव समाज के युवक, युवती शामिल है।

महंगाई से बचने को सामूहिक विवाहों में सहभागिता निभाएं : महेंद्र जाजोरिया

मुख्य अतिथि महेन्द्र जाजोरिया पूर्व लोकसभा प्रत्याशी भरतपुर ने उपस्थित लोगों से बढ़ाती मंहगाई के दौर से बचने के लिए सामूहिक विवाह सम्मेलनों को बढावा देकर बच्चों की शादी करने का आह्वान किया। नपा उपाध्यक्ष प्रकाश अंबेश ने सामाजिक कुरीतियों को छोड़कर बच्चों को शिक्षित बनाकर योग्य नागरिक बनाने की बात कही।

यह भी पढ़ें-घर से भागी किशोरी को परिजनों को सौंपा, बोली-मैं डॉक्टर बनना चाहती थी, घरवाले पढ़ा नहीं रहे थे, इसलिए भागी