मध्यप्रदेश भाजपा ऑफिस में कथित यौन शोषण, जांच से पहले भाजपा ने कहा-घटना होना संभव नहीं

14

मध्यप्रदेश भाजपा ऑफिस में कथित यौन शोषण मामले से प्रदेश की सियासत गरमा गई है। जांच शुरू होने से पहले ही भाजपा के प्रदेश कार्यालय मंत्री राघवेंद्र शर्मा ने दावा किया है कि 200 स्क्वायर फीट के कमरे में लाइब्रेरी है, जिसमें 10-12 लोग बैठते हैं।

सुबह 11 बजे तो घटना होना संभव नहीं, फिर भी जांच की जा रही है। पूरे ऑफिस में सीसीटीवी लगे हैं, लाइब्रेरी में भी कैमरा है। अगर ऐसा कुछ हुआ होगा, तो जांच में सच सामने आ जाएगा।

शर्मा के इस बयान के बाद कांग्रेस हमलावर हो गई है। उसने कहा कि बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ वाला इनका नारा ढोंग है, सच सबके सामने आ गया है। अगर महिलाओं के साथ हैं, तो पीडि़त को इंसाफ दिलाएं। वहीं पीडि़त का कहना है कि वह मीडिया के सामने कुछ नहीं बोलना चाहती। उसने संगठन के सामने पक्ष रख दिया है।

यह भी पढ़ें-बंगाल चुनाव : अमित शाह 21 मार्च को जारी करेंगे भाजपा पार्टी का घोषणापत्र