जोधपुर से बड़ी खबर: आर्थिक पैकेज में जोडऩे की मांग, इधर कंटेनमेन्ट जोन से परेशान

7
dainik jaltedeep
dainik jaltedeep

जोधपुर। कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) एवं मारवाड़ चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन को पत्र प्रेषित कर हाल ही में घोषित आर्थिक पैकेज में देश के व्यापारिक समुदाय को बिल्कुल नकार देने पर रोष व्यक्त करते हुए व्यापारियों को आर्थिक पैकेज से जोडने की मांग की है।

कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) एवं मारवाड़ चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने आर्थिक पैकेज से जोडने की मांग की है।

कैट के राष्ट्रीय गवर्निंग कौंसिल के सदस्य एवं चै बर के अध्यक्ष प्रसन्न मेहता ने पत्र में बताया कि आर्थिक पैकेज की घोषणा करते समयसरकार ने व्यापारियों की उपेक्षा की है। जिससे देश भर में व्यापारिक समुदाय आंदोलित है और आर्थिक पैकेज में ना शामिल किये जाने से निराश है। कोरोना महामारी के इस विकराल समय मे भारत के व्यापारी आवश्यक वस्तुओं की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मजबूती से खड़े हैं ताकि हर नागरिक को लॉकडाउन के दौरान जरूरी वस्तुओं की पर्याप्त आपूर्ति हो।

यह भी पढ़ें- जोधपुर: कोरोनाकाल में जारी हैं सेवा कार्य

खुदरा, थोक विक्रेता और सहित देश के लगभग 7 करोड़ व्यापारी आक्रोशित हैं। 45 प्रतिशत व्यापारी बहुत सीमित साधनों और संसाधनों के साथ ग्रामीण भारत की जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। उन्होने वित्त मंत्री को लिखे पत्र में आर्थिक पैकेज में व्यापारियों को जोडने की मांग की।

कंटेनमेन्ट जोन हटाने की मांग, ज्ञापन सौंपा

जोधपुर। बम्बा मोहल्ला, गुलजारपुरा व आसपास के क्षेत्र के बाशिन्दों ने डीसीपी व जिला कलक्टर के नाम ज्ञापन सौंपकर क्षेत्र को कंटेनमेन्ट जोन व कफ्र्यू से मुक्त करने के लिए अपील की। अतीक सिद्दीकी ने ज्ञापन में बताया कि बम्बा मोहल्ला, हज हाउस, गुलजारपुरा, स्टेडियम शॉपिंग सेन्टर, हाथीराम का ओढ़ा सहित आसपास के क्षेत्र में पिछले दो सप्ताह से एक भी कोरोना पॉजिटिव मरीज नहीं पाया गया है। अत: इस क्षेत्र को कन्टेनमेन्ट क्षेत्र से मुक्तकर आवश्यक दिनचर्या वस्तुओं की दुकानें व व्यापार की खोलने की अनुमति प्रदान की जाए। इस दौरान क्षेत्र के सईद अहम, डॉ. मोहम्मद इमरान, डॉ. एमडी खान, नियाज खान व हिदायतुल्ला खान मौजूद थे।