रसोई गैस के दाम में बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस ने कीमतें तत्काल वापस लेने की मांग की

10

रसोई गैस सिलिंडर के बढ़ते दाम को देखते हुए कांग्रेस केंद्र सरकार पर हमलावर होती दिखाई दे रही है। सोमवार को कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत रसोई गैस के दाम में बढ़ोतरी के विरोध में सिलिंडर के साथ संवाददाता सम्मेलन में पहुंचीं और सरकार से बढ़ी हुई कीमतें तत्काल वापस लेने की मांग की। 

उन्होंने सरकार पर कुप्रबंधन, मुनाफाखोरी करने और आम लोगों की फिक्र नहीं करने का आरोप लगाया और सवाल किया कि कांग्रेस नीत यूपीए सरकार के समय सिलिंडर लेकर सड़क पर बैठने वाली भाजपा की महिला नेता अब चुप क्यों हैं?

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि पिछले 10 दिनों के भीतर इस सरकार ने रसोई गैस के सिलिंडर में 75 रुपये की बढ़ोतरी की है। चार फरवरी को दाम 25 रुपये बढ़ाए गए थे और अब 50 रुपये बढ़ा दिए गए। यही नहीं, दो महीने के भीतर सिलिंडर की कीमत में 175 रुपये की वृद्धि की जा चुकी है। आज के समय में दिल्ली में एक सिलेंडर 769 रुपये का बिक रहा है।

उन्होंने दावा किया कि यूपीए सरकार के समय एक सिलिंडर की कीमत 400 रुपये के करीब थी। उस समय कच्चे तेल की कीमत 100 डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा थी, लेकिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों को नियंत्रित रखा गया था। अब पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें आसमान छू रही हैं। इस सरकार के कुप्रबंधन के कारण देश को महंगाई की मार झेलनी पड़ रही है।

उन्होंने आरोप लगाया कि यह सरकार डीजल पर उत्पाद शुल्क को आठ गुना और पेट्रोल पर ढाई गुना बढ़ा चुकी है। इस सरकार की कृपा है कि देश ने पेट्रोल की कीमत के मामले में शतक लगा दिया है और नया कीर्तिमान गढ़ दिया है। ऐसा लगता है कि इस सरकार को आम आदमी की रत्ती भर फिक्र नहीं है। सुप्रिया ने सवाल किया कि क्या सरकार का काम मुनाफाखोरी करना है?

यह भी पढ़ें-एलपीजी सिलेंडर की कीमत में 50 रूपए की बढ़ोतरी हुई