देशवासी आत्म-विश्वासी और आत्मनिर्भर भारत का लें संकल्पः उपराष्ट्रपति

71
venkaiah naidu
venkaiah naidu

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने सोमवार को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर देशवासियों को राष्ट्रीय पर्व की शुभकामनाएं दी हैं और साथ ही उनसे अधिक आत्म-विश्वासी और आत्मनिर्भर भारत के निर्माण के प्रति स्वयं को समर्पित करने का निष्ठापूर्वक संकल्प लेने को कहा है।

उपराष्ट्रपति ने अपने संदेश में कहा कि इस शुभ दिवस पर देश के  सभ्यतागत आदर्शों और संवैधानिक मूल्यों को कायम रखने के हमें अपना संकल्प दोहराना चाहिए और एक सकल समावेशी, शांतिपूर्ण, समरसतापूर्ण और प्रगतिगामी भारत का निर्माण करने के प्रति स्वयं को समर्पित करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस अवसर पर हमें संविधान व स्वतंत्रता, समानता, बंधुत्व और सभी के लिए न्याय के पोषित आदर्शों पर आधारित गणतंत्र के आधारभूत सिद्धांतों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराना चाहिए। हमारे संवैधानिक मूल्य हमारी लोकतांत्रिक जड़ों को और मजबूत बनाने के लिए अनिवार्य हैं। आज, भारत एक ऐसा देश है जो संभावनाओं से परिपूर्ण है और यह सर्वांगीण विकास के ऐसे मार्ग पर अग्रसर हो रहा है, जो सकल समावेशी और संपोषणीय है। हमारा लोकतंत्र जोशपूर्ण है और सुशासन और पारदर्शिता के प्रति हमारी प्रतिबद्धता पहले से कहीं अधिक सुदृढ़ है।

नायडू ने कहा कि इस आनंदपूर्ण दिवस पर हम अपने गणतंत्र की उपलब्धियों का गुणगान करें और पहले से अधिक आत्म-विश्वासी और आत्मनिर्भर भारत के निर्माण के प्रति स्वयं को समर्पित करने का निष्ठापूर्वक संकल्प लें जो विश्व शांति और समावेशी संपोषणीय विकास में योगदान देने की अपनी प्राचीन परंपरा को जारी रखे हुए है।