महाराष्ट्र: विमान बना विवाद, सरकार और राज्यपाल में ठनी

10

मुंबई। महाराष्ट्र की उद्धव सरकार और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के बीच विवाद एक बार फिर गहरा गया है। शिवसेना के माउथपीस सामना में एक राज्यपाल कोश्यारी पर खबर के हवाले से हमला बोला गया है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा, राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी फिर से खबरों में हैं। वह पिछले कई वर्षों से राजनीति में रहे हैं। वह केंद्रीय मंत्री थे और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भी रहे। बहरहाल, जब से वह महाराष्ट्र के राज्यपाल बने हैं, वह हमेशा खबरों में रहे या विवादों में घिरे रहे। संपादकीय में कहा गया, वह हमेशा विवादों में क्यों रहते हैं यह एक सवाल है। हाल में वह राज्य सरकार के विमान के इस्तेमाल को लेकर खबरों में रहे। राज्यपाल सरकारी विमान से देहरादून जाना चाहते थे, लेकिन सरकार ने अनुमति देने से मना कर दिया। वह बृहस्पतिवार की सुबह विमान में बैठे लेकिन विमान को उडऩे की अनुमति नहीं थी इसलिए उन्हें उतर कर एक वाणिज्यिक उड़ान से देहरादून जाना पड़ा।

गौरतलब है कि शिवसेना और महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के बीच का तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है। महाराष्ट्र सरकार का आरोप है कि राज्यपाल भाजपा के ढर्रे पर चल रहे हैं। साथ ही पार्टी ने ये भी कहा है कि अगर केंद्र सरकार चाहती है कि संविधान बरकरार रहे तो उसे उन्हें वापस बुला लेना चाहिए। शिवसेना का कहना है कि महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार स्थिर और मजबूत है और राज्य सरकार पर निशाना साधने के लिए केंद्र राज्यपाल के कंधे का इस्तेमाल नहीं कर सकता है।

कुछ दिनों पहले भी महाराष्ट्र सरकार और राज्यपाल कोश्यारी के बीच का एक विवाद खबरों में बना हुआ था। जहां महाराष्ट्र सरकार नेे उन्हें उत्तराखंड जाने के लिए विमान देने से मना कर दिया था. सरकार का कहना था कि निजी यात्रा के लिए विमान नहीं दिया जाएगा।

वहीं कोश्यारी का कहना था कि वो निजी यात्रा के लिए नहीं जा रहे थे। बता दें महारष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस ओर एनसीपी गठबंधन की सरकार है। बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लडऩे वाली उद्धव ठाकरे ने अपनी पार्टी से मुख्यमंत्री बनने की जिद के चलते बीजेपी से गठबंधन तोड़कर एनसीपी और कांग्रेस से मिलकर सरकार बना ली थी।