होण्डा 2 व्हीलर इण्डिया ने जून 2020 में तकरीबन 3 लाख रीटेल युनिट्स बेची

22
honda 2 wheelers
honda 2 wheelers

होण्डा नेटवर्क ने भारत के अनलॉक 1.0 में प्रवेश के साथ जून 2020 के पहले सप्ताह तक 95 फीसदी से अधिक संचालन शुरू हो चुका था। होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्राइवेट लिमिटेड ने इस माह के दौरान दोपहिया वाहनों की मांग में उछाल दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें- होण्डा ने लॉन्च किया नया ग्राजिया 125

आर्थिक गतिविधियों में सुधार के दूसरे माह में, होण्डा ने जून 2020 में तकरीबन 4 गुना 210,879 युनिट्स बेची हैं 1/4202,837 डोमेस्टिक और 8042 निर्यात1/2, जबकि मई माह में 54,820 युनिट्स बेची गई थीं 1/454000 डोमेस्टिक और 820 निर्यात1/2। अब ज्यादा से ज्यादा भारतीय सुरक्षा के मद्देनजर निजी परिवहन की ओर रूख कर रहे हैं, ऐसे में मई माह की तुलना में जून 2020 में होण्डा की रीटेल बिक्री 156 फीसदी बढक़र तकरीबन 3 लाख युनिट्स के आंकड़े पर पहुंच गई है जो मई माह में 1.15 लाख थी।

होण्डा की रीटेल बिक्री 156 फीसदी बढक़र तकरीबन 3 लाख युनिट्स के आंकड़े पर पहुंच गई है जो मई माह में 1.15 लाख थी।

इसके अलावा सुरक्षा और सेनिटेशन ‘न्यू नॉर्मल’ में नंबर 1 प्राथमिकता बन गए हैं, होण्डा के ऑथोराइज्ड वर्कशॉप्स में सर्विस विजिट्स की। संख्या भी दोगुनी होकर 22 लाख युनिट्स के पार पहुंच गई है। 1/4 मई 2020 में 10.5 लाख विजिट1/2 दोपहिया वाहनों की तेजी से बढ़ती मांग पर बात करते हुए यदविंदर सिंह गुलेरिया, डायरेक्टर- सेल्स एण्ड मार्केटिंग, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्राइवेट लिमिटेड ने कहा, ‘होण्डा के तकरीबन 95 फीसदी डीलर अपना संचालन फिर से शुरू कर चुके हैं, चारों प्लान्ट्स में उत्पादन फिर से शुरू होने के साथ हमारी आपूर्ति शृंखला स्थिर हो रही है।

यह भी पढ़ें- होण्डा ने भारत में 2020 अफ्रीका ट्विन एडवेंचर स्पोर्ट्स की शुरू की डिलीवरी

जून माह में हमारी रीटेल बिक्री में 150 फीसदी बढ़ोतरी से हमारा आत्मविश्वास बढ़ा है। होण्डा 2व्हीलर्स ने पहले माह में सबसे ज्यादा चार क्चस्ङ्कढ्ढमॉडल्स- सीडी 110 ड्रीम, ग्राजिया 125, 2020 अफ्रीका ट्विन और लीवो को बाजार में उतार कर एक नया जोश उत्पन्न किया है।

होण्डा ने जून 2020 में तकरीबन 4 गुना 210,879 युनिट्स बेची हैं

सार्वजनिक परिवहन के बजाए निजी परिवहन की ओर बढ़ते रूझानों के चलते दोपहिया वाहनों की मांग तेजी से बढ़ रही है और दोपहिया वाहन बाज़ार में उपभोक्ताओं की पहली पसंद बन गए हैं।