नीमराणा में प्लाईवुड-फर्नीचर फैक्ट्री में लगी भीषण आग

10

200 कर्मचारियों ने भागकर बचाई जान, 20 कंटेनरों में तैयार पड़ा माल और पैकेजिंग का माल हुआ राख, करोड़ों का हुआ नुकसान

अलवर । राजस्थान के प्रमुख इंडस्ट्रियल एरिया नीमराणा में बुधवार सुबह प्लाईवुड-फर्नीचर बनाने वाली आरआर फैक्ट्री आग की चपेट में आ गई। पूरी फैक्ट्री जलकर तबाह हो गई। करोड़ों रुपए का नुकसान हो गया है। पूरे एरिया में धुआं ही धुआं दिख रहा है। फैक्ट्री में केमिकल के ड्रम भी थे, इस कारण बड़ा अग्निकांड हो गया। आसपास के क्षेत्र की सब दमकलों को बुलाकर आग पर काबू पाने का प्रयास जारी है। हादसे के वक्त फैक्ट्री में 200 कर्मचारी काम कर रहे थे, जो समय रहते दौडक़र बाहर निकल गए।

आसपास के लोगों ने बताया कि बुधवार सुबह करीब 9 बजे के आसपास धुआं दिखने लगा। तब पता चला कि फैक्ट्री में आग लगी है। कुछ ही देर में पूरी फैक्ट्री में आग फैल गई। इसके बाद तुरंत फैक्ट्री मालिक और कर्मचारियों ने पुलिस और अग्निश्मन केंद्र को सूचना भेजी। दमकल मौके पर पहुंची, जो आग बुझाने में लगी हुई हैं। दमकल कर्मचारियों के अनुसार आग बुझाने में अभी कई घंटे का समय लग सकता है। नीमराणा के दमकल वाहन खराब पड़े हैं। इस कारण भिवाड़ी और बहरोड़ से दमकल वाहनों को आने में काफी समय लग गया।

बताया जा रहा है कि यह फर्नीचर बनाने की बड़ी फैक्ट्री है। करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है। हालांकि आग बुझने के बाद ही पता चलेगा कि कितना नुकसान हुआ है। आसपास की फैक्ट्रियों के चपेट में आने का भी डर बना हुआ है। कंपनी के प्रोडेक्शन मैनेजर जय प्रकाश ने बताया कि फर्नीचर बनाने वाली इस कंपनी में करीब 20 कंटेनर तैयार माल सहित पैकेजिंग का पूरा माल जलकर खाक हो गया।

नीमराणा क्षेत्र की तीनों दमकल गाडिय़ों के खराब होने के चलते दमकल गाडिय़ों को बहरोड़ से बुलाना पड़ा। इससे समय ज्यादा लग गया। इस दौरान आग से पूरी फैक्ट्री तबाह हो गई। उन्होंने बताया कि सुबह कंपनी में करीब 200 कर्मचारी काम कर रहे थे। सभी ने भागकर अपनी जान बचाई। करोड़ों का माल जलकर खाक हो गया, लेकिन कोई जन हानि नहीं हुई है।

यह भी पढ़े-माताजी मोहन कंवर को पुष्पांजलि अर्पित कर दी श्रद्धांजलि