नव संकल्प कांग्रेस शिविर, एजेंडा तय करने वाली कमेटियों में जी-23 के नेताओं को कमान

165

नई दिल्ली। लगातार चुनाव हार रही कांग्रेस ने वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाने, चुनौतियों से निपटने के लिए एम्पावर्ड एक्शन ग्रुप बनाने का सोमवार को ऐलान किया। तमाम मुद्दों पर विचार के लिए पार्टी 13 से 15 मई तक नव संकल्प नाम से चिंतन शिविर करेगी। यह उदयपुर में होगा। चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ पार्टी नेताओं की बैठक के बाद अध्यक्ष सोनिया गांधी ने ये निर्णय लिए है।

इस कवायद में जी-23 नेताओं को भी शामिल किया है। शिविर के दौरान विभिन्न मुद्दों पर पेपर तैयार करने के लिए 6 समितियां बनाई गई हैं। सीएम अशोक गहलोत पिछले माह सोनिया गांधी से मिले तब यह शिविर राजस्थान में रखने का प्रस्ताव दिया था। इससे पहले 2013 में जयपुर में हुए चिंतन शिविर में राहुल गांधी को पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया था। अब उदयपुर शिविर में राहुल को पार्टी की कमान सौंपी जा सकती है। इससे 9 साल पहले 2013 में जयपुर में शिविर हुआ तब राहुल गांधी को उपाध्यक्ष बनाया गया था। तब भी गहलोत ही सीएम थे।

चिंतन शिविर में 400 नेता शामिल होंगे। इनमें वर्किंग कमेटी सदस्य, सांसद, राज्य प्रभारी और महासचिव, प्रदेश अध्यक्ष, विधायक दल के नेता, वरिष्ठ नेता शामिल हैं। प्रस्तावों के लिए सोनिया गांधी ने वरिष्ठ नेताओं की 6 कमेटियां बनाई हैं। इसमें प्रदेश से सिर्फ सचिन पायलट को जगह मिली है। चिंतन शिविर में 6 प्रस्तावों पर चर्चा होगी इसके लिए मल्लिकार्जुन खडग़े के नेतृत्व में बनी राजनीतिक समिति में गुलाम नबी आजाद, शशि थरूर हैं। संगठन संबंधी समिति का नेतृत्व मुकुल वासनिक को दिया गया है। भूपिंदर सिंह हुड्डा किसान और खेती संबंधी समिति के अध्यक्ष हैं। पी. चि?दंबरम की अध्यक्षता में बनी आर्थिक विषयों की समिति में आनंद शर्मा को लिया गया है।