अंकिता की हत्या मामले में नया खुलासा

398
अंकिता हत्याकांड
अंकिता हत्याकांड

आतंकी संगठनों से लिंक मिलने के संकेत

शाहरुख का दोस्त नईम देता था लड़की को दुबई बेचने की धमकी

रांची। झारखंड में अंकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपी और उसके दोस्त नईम को लेकर नए-नए खुलासे हो रहे हैं। दोनों ही आपराधिक प्रवृत्ति के युवक हैं। दोनों कई अपराधों में लिप्त हैं। कई लड़कियों को फंसा चुके हैं। अंकिता को जलाने के लिए नईम ने ही शाहरुख को उकसाया था। उसी ने उसे पेट्रोल लाकर दिया था। पुलिस को नईम के आतंकी संगठनों से जुडऩे के संकेत मिले हैं। जानकारी के मुताबिक दोनों की गिरफ्तारी के बाद बुधवार को पुराना दुमका की रहने वाली एक नाबालिग मीडिया के सामने आई। लड़की ने बताया कि नईम उस पर धर्म बदलकर निकाह करने का दबाव बना रहा था। मना करने पर अपने दुबई वाले भाई को बेचने की धमकी देता था। कुछ दिन बाद ही इन्होंने अंकिता को जला कर मार दिया। पीडि़ता ने कहा कि घटना पिछले साल की है। वह कोचिंग जाना-आना करती थी। उस समय नईम ना सिर्फ उसके साथ छेडख़ानी किया करता था, बल्कि उसकी बात नहीं मानने पर पूरे परिवार को बर्बाद करने की धमकी देता था। फोन का नंबर मांगता था।

नईम ने उसे अगवा कर लिया

अंकिता हत्याकांड
अंकिता हत्याकांड

पीडि़ता ने बताया, एक दिन मैं घर के सामने गली में खड़ी थी, तब नईम ने मुझे अगवा कर लिया। एक कमरे में बंद कर दिया। बाद में परिजनों की शिकायत पर दुमका पुलिस ने मुझे छुड़ाया। पोक्सो एक्ट के तहत नईम जेल भेजा गया था, लेकिन जब वह जमानत पर छूटा तो मेरे परिवार को केस उठा लेने की धमकी देने लगा। इस बीच, अंकिता को जलाकर मार देने की घटना सामने आई। इसमें भी नईम शामिल है, यह सुनने के बाद मेरा परिवार खौफ में है।

इसके अलावा, नईम ने उसी मोहल्ले की एक केवट परिवार की शादीशुदा महिला को भी अगवा कर लिया था। लगभग तीन महीने तक उसे साथ रखा। बाद में महिला के परिजनों ने पुलिस की मदद ली तब जाकर उस महिला को छुड़ाया जा सका।

60 रुपए के पेट्रोल से अंकिता को जलाया

पुलिस सूत्रों के अनुसार, अंकिता हत्याकांड में नईम की भूमिका भी महत्वपूर्ण रही है। उसी ने शाहरुख को ऐसा करने के लिए उकसाया। घटना की रात उसने खुद 60 रुपए का पेट्रोल खरीदकर शाहरुख को दिया था।

पुलिस ने पोक्सो एक्ट की धाराएं जोड़ीं

अंकिता की मौत के बाद दुमका पुलिस ने पोक्सो एक्ट की धाराएं जोड़ी हैं। इससे पहले पुलिस ने अंकिता की उम्र 19 साल बताई गई थी। जिसे अब सुधार कर 15 साल किया गया है। इसके बाद पोक्सो एक्ट की धाराएं लगाई गई हैं।

ऐसी जली अंकिता कि अंगों ने काम करना किया बंद

दुमका की नाबालिग बेटी अंकिता को दरिंदों ने कुछ ऐसे जलाया कि उसके शरीर में पूरा मवाद (पस) भर गया था। यह बात उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में निकल कर सामने आई है। रिपोर्ट में यह भी लिखा है कि अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थ से उसे जलाया गया था और इस वजह से शरीर के ऊपर की हर परत में मवाद भर गया था। यही वजह रही कि लगभग 40त्न जलने के बाद भी उसके शरीर के अंगों ने धीरे-धीरे काम करना बंद कर दिया था। फिर भी मन से मजबूत अंकिता ने अपने शरीर के घावों के आगे सरेंडर कर दिया और दम तोड़ दिया।

अंकिता को असहनीय जलन हो रही थी

बीजेपी नेता बाबूलाल मरांडी ने ट्वीट कर कहा कि, अंकिता को जब दुमका के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, तो अस्पताल में पंखे तक नहीं थे। अंकिता के पिता एक परिचित से पंखा मांग कर लाए। बेहतर इलाज के लिए जब रिम्स आए तो 4 एसी लगे कमरे में सबके सब खराब पड़े थे। अंकिता को असहनीय जलन हो रही थी, उसके पिता ने 600 में फिर एक पंखा खरीदा।

आईपीएस बनना चाहती थी अंकिता

अंकिता सिंह तीन भाई-बहनों में मंझली थी। बड़ी बहन की शादी हो चुकी है, जबकि 12 साल का छोटा भाई फिलहाल पढ़ रहा है। अंकिता आईपीएस बनना चाहती थी। उसके परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। पिता एक बिस्किट कंपनी में सेल्समैन का काम करते हैं। परिवार में दादा-दादी हैं। उसकी मां की मौत पिछले साल हो चुकी है।

यह भी पढ़ें :