शेपिंग फ़्यूचर की वित्तीय सहायता से जरूरतमंद मेधावी स्टूडेंट्स को मिल रहा सपोर्ट

188

जयपुर में प्रोफ़ेशनल्स की इस संस्था ने बनाई प्रतिभाशाली बच्चों की शिक्षा के लिये महत्वाकांक्षी योजना

जयपुर। शहर के शेपिंग फ़्यूचर समूह ने उन छात्र छात्राओं के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने की एक सराहनीय योजना बनाई है जिसके माध्यम से आर्थिक रूप से पिछड़े, होनहार व अत्यंत मेधावी बच्चों को आगे की पढ़ाई जारी रखने के लिए एवं विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोचिंग संस्थान में वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।  इस योजना को मूर्त रूप देने वाले है प्रसिद्ध उधोगपति व होटल व्यवसायी आलोक कोटहवाला एवं समाजसेवी व सीए अनिल खंडेलवाल।

दानदाताओं व ग़रीब- होनहार छात्रों के बीच की एक कड़ी है जो इनको मिलाने का कार्य करती है –

शेपिंग फ़्यूचर उन सभी दानदाताओं का स्वागत करता है जो शिक्षा के लिए धन समर्पित कर सकते हैं । शेपिंग फ़्यूचर ऐसे दानदाताओं से केवल कमिट्मेंट लेता है और योग्य छात्र के मिलने पर ऐसे व्यक्तियों से आग्रह करता है की ऐसे छात्रों की सम्बंधित विद्यालयों को फ़ीस का भुगतान कर दें। इस प्रकार दानदाता और छात्र का सम्बंध बना रहता है और छात्र की फ़ीस के भुगतान से सहायता हो जाती है। जो दानदाता इस समूह से जुड़ना चाहते हैं वे इस समूह की वेबसाइट पर डोनेट नाउ पर क्लिक करके अपनी सारी जानकारी व राशि भर कर जुड़ सकते हैं।

शेपिंग फ़्यूचर में छात्र व छात्राओं की योग्यता का आधार

ऐसे छात्र जिनका चयन ऐसी प्रेमियर संस्थाओं में हो चुका हो या जिनके कक्षा १२वीं में 85% या अधिक मार्क्स आए हों व जिनके अभिभावक की वार्षिक आय 5.00 लाख से कम हो ऐसे छात्र छात्राएँ इस सुविधा का लाभ ले सकेंगे।

शेपिंग फ़्यूचर उन छात्र छात्राओं की सहायता के लिए अग्रसर है जो की आर्थिक रूप से सम्पन्न नहीं हैं परंतु होनहार हैं ।  इस योजना के तहत वही छात्र योग्य माने जाएँगे जो की निम्नलिखित क्षेत्र में अपनी पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं –
1. चार्टर्ड अकाउंटन्सी, 2. मेडिकल 3. इंजीनियरिंग 4. लॉ 5. upsc की परीक्षा

जिन छात्रों का चयन ऐसी प्रीमियर संस्थाओं में हुआ है उन्ही की फ़ीस का भुगतान होगा।

अब तक 24 छात्र- छात्राओं को मिल चुकी है देश-प्रदेश में सहायता

ऑनलाइन कर सकते है अप्लाई

ऐसे छात्र छात्रा जो कि इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं वे समूह की वेबसाइट पर ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। वे अपनी विभिन्न परीक्षाओं की मार्क्स शीट, संस्थान के प्रवेश पत्र व सम्बंधित प्रमाण पत्र दे सकते हैं।

स्क्रीनिंग कमेटी के है ये जानेमाने सदस्य

शेपिंग फ़्यूचर ने देश के माने हुए प्रफ़ेशनलस की एक कमिटी बनाई है जिसमें अलग अलग क्षेत्र के विशेषज्ञ हैं। ये विशेषज्ञ ही इस योजना में शामिल होने के लिए छात्रों का चयन करते हैं।

अनिमेष चौहान (पूर्वी ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, दिल्ली के पूर्व एमडी और सीईओ) अशोक जैन, आईएएस (पूर्व मुख्य सचिव, राजस्थान राज्य) सुनील गोयल, एफसीए (भारत के चार्टर्ड एकाउंटेंट्स संस्थान, दिल्ली के पूर्व अध्यक्ष) आशीष अरोड़ा (जेईई और एनईईटी के विशेषज्ञ) अमित अग्रवाल (जेईसीआरसी विश्वविद्यालय, जयपुर के प्रबंध निदेशक) कोटहवाला (एक वरिष्ठ व्यवसायी) डॉ. निधि पाटनी (निदेशक एवं कैंसर विशेषज्ञ, बीएमसीएचआरसी, जयपुर) स्वदीप होरा (एस एस होरा एंड एसोसिएट्स, डब्ल्यूटीपी, जयपुर के एक वरिष्ठ भागीदार)

कई दिग्गज है इस संस्था के सलाहकार

प्रीतम सिंह, आईएएस (पूर्व सचिव, भारत सरकार), भूपेंद्र सिंह (पूर्व डीजीपी, राज।), संजीव सिंह (सीआईटी), ए.सी. राउत (पूर्व ईडी, महाराष्ट्र), राम कुमार (पूर्व, सीजीएम, पीएनबी) , शिव ओम (सीजीएम, एसबीआई), विवेक मल्होत्रा ​​(सीजीएम, सिडबी), श्री अशोक गुप्ता (आईआईएस), रैनू सिंह (ईडी, दिशा), एम. पी, शर्मा (अध्यक्ष, टाई) मेजर जनरल आलोक राज, एस.एल. तांबी (अध्यक्ष, केवीजीआईटी)

कोर कमेटी के सदस्य

इंदिरा कोटहवाला , ऋचा खोड़ा (सीआईटी), शारदा खंडेलवाल, सुधा साबू, निवेदिता सारदा (कॉर्पोरेट एडवोकेट), नीरू जैन, डॉ. वर्षा तनु