संसद में आज से बजट सत्र का दूसरा सत्र शुरू, पेट्रोल-डीजल और घरेलू रसोई गैस की बढ़ी कीमतों पर हंगामा

11

संसद में आज से बजट सत्र का दूसरा सत्र शुरू हो गया है। राज्यसभा में सोमवार को कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी सदस्यों ने पेट्रोल, डीजल और घरेलू रसोई गैस की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि को लेकर हंगामा किया। विपक्ष इसे ज्वलंत विषय बताते हुए इस पर चर्चा कराने की मांग पर अड़ा है। हंगामें के बाद राज्यसभा की कार्यवाही एक बार फिर दोपहर एक बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

सभापति एम वेंकैया नायडू ने शून्यकाल में कहा कि उन्हें नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खडगे की ओर नियम 267 के तहत कार्यस्थगन नोटिस मिला है, जिसमें उन्होंने पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में वृद्धि के मुद्दे पर चर्चा का अनुरोध किया है।

नायडू ने कहा कि उन्होंने इसे स्वीकार नहीं किया है क्योंकि सदस्य मौजूदा सत्र में विनियोग विधेयक पर चर्चा के दौरान एवं अन्य मौकों पर इस संबंध में अपनी बात रख सकते हैं। बता दें कि नियम 267 के तहत सदन का सामान्य कामकाज स्थगित कर किसी अत्यावश्यक मुद्दे पर चर्चा की जाती है।

सभापति की ओर से पेट्रोल और डीजल व रसोई गैस की कीमतों के मुद्दे पर चर्चा का अनुमति नहीं मिलने पर विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान, कुछ सदस्य आसन के समीप भी आ गए। जब हंगामा नहीं थमा, तो कार्यवाही सोमवार सुबह 10 से लेकर 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

11 बजे दोबारा सदन की कार्यवाही शुरू हुई, इसके बाद विपक्ष ने फिर ईंधन की कीमतों को लेकर हंगामा मचा दिया, लेकिन जब उपसभापति की शांत रहने की अपील के बावजूद हंगामा जारी रहा, जिसके बाद सदन की कार्यवाही दोबारा एक बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। 

यह भी पढ़ें-सीएम बदलने की अटकलों के बीच दिल्ली पहुंचे रावत, महिला दिवस पर शुभकामनाएं दी