खाटूश्यामजी मंदिर में भगदड़ से तीन दर्शनार्थियों की मौत, थानाधिकारी रिया चौधरी निलंबित

341
khatu shyam mandir bagdard
khatu shyam mandir bagdard

सीएम गहलोत ने दिए जांच के आदेश, संभागीय आयुक्त जांच कर रिपोर्ट सौंपेंगे

सीकर । खाटूश्यामजी मंदिर में देर रात एकादशी पर भगदड़ मचने से तीन दर्शनार्थियों की मौत पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस मामले में सीएम गहलोत ने जांच के आदेश दिए हैं। जयपुर के संभागीय आयुक्त इस मामले की जांच करके रिपोर्ट सरकार को सौंपेंगे। 

khatu shyam mandir sikar

सीएम गहलोत ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए और घायलों को 20-20 हजार रुपए की आर्थिक सहायता की घोषणा की

सीएम गहलोत हादसे के मृतकों के परिवारों और घायलों के लिए आर्थिक सहायता की घोषणा भी की है। सीएम गहलोत ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए और घायलों को 20-20 हजार रुपए की आर्थिक सहायता की घोषणा की है।

वही इससे पहले सीएम गहलोत ने ट्वीट करके कहा कि मेरी गहरी संवेदनाएं शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। ईश्वर उन्हें यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करें और दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करें भगदड़ में घायल हुए श्रद्धालुओं के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।

सीकर की खाटूश्यामजी मंदिर में सुबह एकादशी पर श्याम बाबा के दर्शनों के लिए जुटी भीड़ में भगदड़ मचने से 3 महिलाओं की दबने से मौत हो गई जबकि 4 अन्य घायल हो गए। हादसा मंदिर के प्रवेश द्वार के पास ही हुआ।

खाटू श्याम थानाधिकारी रिया चौधरी निलंबित

rita choudhary khatu shyam ji

खाटूश्यामजी मंदिर में सोमवार को हुई भगदड़ में हुई तीन महिलाओं की मौत और 4 घायल के मामले में स्थानीय थाना अधिकारी रिया चौधरी को निलंबित कर दिया है।  सीकर के पुलिस अधीक्षक राष्ट्रदीप ने सोमवार को आदेश जारी कर खाटू श्याम थाने की थाना अधिकारी रिया चौधरी को निलंबित कर दिया है। 

मृतकों में एक महिला की शिनाख्त हरियाणा की हिसार निवासी शांति के रूप में हुई है। बताया जाता है कि हादसा सुबह करीब 4 बजे हुआ। एकादशी पर मंदिर के पट खुलते ही दर्शनों की होड़ में अचानक भीड़ का दबाव बढ़ गया जिसमें भगदड़ मच गई।

Read this also : जेईई मेन 2022 परिणाम : मोशन एजुकेशन के चार विद्यार्थी टॉप हंड्रेड में

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार भगदड़ में दबे लोगों के बचाव के लिए दो घंटे तक कोई मदद नहीं मिली। तब तक हताहत श्रद्धालु मौके पर ही घायल अवस्था में तड़पते रहे। बाद में पुलिस और प्रशासन की टीम ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया। लोगों का कहना था कि यदि समय पर मदद मिलती तो सभी श्रद्धालुओं की जान बचाई जा सकती थी।  दिल्ली से लौटने के बाद स्वयं गहलोत खाटूश्यामजी मंदिर जाकर पीडितों से मुलाकात कर सकते हैं।

सुबह 5 बजे की घटना

जानकारी के अनुसार राजस्थान के प्रसिद्ध खाटू जी श्याम मंदिर में सोमवार को सुबह 5 बजे जैसे ही मंदिर का प्रवेश द्वार खोला गया। श्याम जी के दर्शन करने के लिए एकत्र भीड़ बेकाबू हो गई और वह एक दूसरे को धक्का मारते हुए आगे की ओर बढ़ने लगी। ऐसे में भगदड़ मच गई और कई श्रद्धालु गिरकर घायल हो गए। वही 3 श्रद्धालु की बुरी तरह से भीड़ में दब जाने की वजह से मौत हो गई। सभी मृतक महिलाएं हैं।