शिव के जैसा चरित्र मनुष्य जीवन का ध्येय: जूली

68

जयपुर। श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली ने अलवर जिले वासियों को शिवरात्रि के त्योहार पर शुभकामना प्रदान करते हुए सभी के कल्याण की कामना की। जूली शुक्रवार को अलवर जिले स्थित प्रजापति ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित आध्यात्मिक मेला स्थल पर शिव अराधना में सम्मिलित हुए।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आध्यात्म के माध्यम से ही आत्मा शांति और सुकून का अनुभव करती है। जीवन में प्रसंन्नता ही सच्चा सुख है। इसलिए प्रत्येक मनुष्य को हर परिस्थिति में खुश रहकर आत्मा की शांति के लिए प्रयासरत रहना चाहिए।

ये भी पढे: सोश्यल एंटरप्रिन्योरशिप का दो दिवसीय काॅन्क्लेव सम्पन्न

इस अवसर पर उन्होंने शिवरात्रि के पावन पर्व पर लगे आध्यात्मिक मेले में अधिकाधिक लोगों को आने की अपील की और कहा कि कल्याणकारी शिव ही ऎसे देवता है जो स्वम् विष पीकर पूरे संसार को दुःखों से बचाते हैं इसलिए भोले बाबा से प्रेरणा लेकर दूसरों के दुःख दूर करना ही मनुष्य का ध्येय होना चाहिए। इस अवसर पर श्री जूली ने शिवलिंग के स्वरूप पर कुछ देर ध्यान किया। साथ ही वहां खुशी के मेले के नाम से लगे शिविर का निरीक्षण कर लाभ उठाया।

ये रहे मौजूद

इस अवसर पर सरपंच हिम्मत सिंह, संजीव बारहट, मुकेश, पुष्पा गुप्ता सहित गणमान्य नागरिक मौजूद थे। इसके बाद श्रम राज्य मंत्री ने साधक सेवा समिति के मंगल परिणय स्थित प्रांगण में शिव वरमाला के कार्यक्रम में शिरकत की।

जूली ने की जनसुनवाई

इससे पूर्व दोपहर में श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली ने अपने कार्यालय में जनसुनवाई कर परिवादों का निस्तारण किया। इसके साथ ही मालाखेडा सरपंच हिम्मत सिंह को सरपंच बनने पर उनका स्वागत भी किया।