अजमेर जिले में 18 प्लस की 86.11 प्रतिशत आबादी को पहली, 39.60 प्रतिशत को दूसरी डोज लगी

9

अजमेर। अजमेर जिले में कोविड वैक्सीनेशन शुरू हुए सोमवार को 247 दिन पूरे हो गए। इन आठ माह में 18 प्लस की 19्र,38,037 आबादी में से 16,68,904 यानी 86.11 प्रतिशत को पहला, 7,67,645 यानी 39.60 प्रतिशत को कोविड की दूसरी डोज लग चुकी है।

सोमवार शाम तक 24,36,549 को पहली व दूसरी दोनों डोज लग चुकी थी। अभी जिले में 2,69,133 को पहली डोज व 11,70,392 को दूसरी डोज लगनी शेष है। इन लोगों को वैक्सीनेट किए जाने के लिए चिकित्सा विभाग विशेष योजना बना रहा है। वहीं 12 से 18 साल के बीच के किशोरों के टीकाकरण के लिए भी विभाग ब्ल्यू प्रिंट तैयार कर रहा है।

अब वैक्सीन की कमी नहीं

सीएमएचओ डॉ. केके सोनी ने बताया कि पहले कई बार वैक्सीन समय पर नहीं आ रही थी। शुरुआत के कुछ माह हेल्थ वर्कर्स व फ्रंटलाइन वॉरियर्स के लिए थे।

किशोरों के टीकाकरण की तैयारी में जुटा चिकित्सा विभाग

कोविड की तीसरी लहर की चपेट में बच्चों के ज्यादा आने की आशंका जताई जा रही है। इसी कारण, चिकित्सा विभाग विशेष तौर पर अलर्ट है। बच्चों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने अजमेर जिले में 12 से 18 साल तक के िकशोरों का आंकड़ा निकाला है। इस ग्रुप की संख्या तकरीबन 2.90 लाख है। चिकित्सा विभाग इन आंकड़ों का ब्ल्यू प्रिंट तैयार कर रहा है।

सरकार से आदेश जारी होने के साथ ही इस ग्रुप के युवाओं का टीकाकरण शुरू किया जाएगा। जानकार बताते हैं कि दो चरणों में वैक्सीनेशन किया जाएगा। युवा वर्ग के वैक्सीन 28 दिन में लगेगी या 83 दिन का अंतराल रहेगा। इसे लेकर केन्द्र से गाइड लाइन आने के बाद ही निर्णय लिया जाएगा।

अजमेर जिले में वैक्सीनेशन पर एक नजर

6 जिले में शनिवार शाम तक 12,35,179 पुरुषों व 12,00,898 महिलाओं को टीका लग चुका था। 619,70,872 को कोविशील्ड व 4,65,677 को-वैक्सीन लगी। 618 से 44 आयु वर्ग में 13,27,966 को टीका लगा। 645 से 59 आयु वर्ग में 6,25,588 को टीका लगा। 60 प्लस आयु में 4,81,995 का वैक्सीनेशन हो चुका है।

चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा स्वयं इस कार्य की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। अजमेर जिला कोविड वैक्सीनेशन में प्रदेश में आबादी के हिसाब से पहले स्थान पर चल रहा है। पहली डोज 86.11 प्रतिशत को लग चुकी है। टीकाकरण से वंचित लोगों को भी जल्द टीका लगा दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें-पदोन्नति और समझौतों को लागू करने की मांग, कार्य बहिष्कार करने की चेतावनी