रामदेवरा मंदिर के पट 31 मार्च तक बंद

28
ramdevra temple

जोधपुर। कोरोना अब भगवान व भक्तों के बीच में बाधक बन गया है। कोरोना से बचाव को चल रहे रोकथाम के प्रयास के तहत रामदेवरा स्थित बाबा रामदेव मंदिर के पट 31 मार्च तक के लिए बंद रखने का फैसला किया गया है।

प्रदेश में धारा 144 लागू होने के बाद से इस मंदिर को प्रतिदिन दो-दो घंटे के लिए तीन बार खोलने की घोषणा की गई थी, लेकिन आज इसके पट 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला लिया गया। इधर जोधपुर में भी अब शहर के भीतरी क्षेत्र स्थित गंगश्यामजी व कुंज बिहारी मंदिर में दर्शनार्थियों का प्रवेश बंद कर दिया गया है।

बाबा रामदेव समाधि स्थल रामदेवरा समिति के अध्यक्ष भोमसिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार को आयोजित बैठक में यह निर्णय लिया गया। भोमसिंह ने बताया कि कोरोना महामारी की रकथाम के लिए केन्द्र व राज्य सरकार की तरफ से कई कदम उठाए गए है।

रामदेवरा समिति के अध्यक्ष भोमसिंह की अध्यक्षता में निर्णय

इसमें सहयोग देने के लिए समिति ने समाधि स्थल को 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला लिया है। इसके तहत पट बंद रहेंगे और श्रद्धालु दर्शन नहीं कर पाएंगे। कोरोना का असर रामदेवरा में गत कुछ दिनों से साफ नजर आ रहा था।

यहां आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में अस्सी फीसदी तक की गिरावट देखी गई। इस कारण हमेशा गुलजार रहने वाला मंदिर परिसर सूना नजर आने लगा था।

वहीं दो दिन पूर्व जिला कलेक्टर के निर्देश पर समाधि स्थल को तीन चरणों में दो-दो घंटों के लिए ही खोला जा रहा था। यह पूरे मारवाड़ का सबसे बड़ा मंदिर माना जाता है। यहां पर प्रति वर्ष देशभर से लाखों लोग अपने आराध्य देव के दर्शन करने आते है।

बता दे कि धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण प्रसिद्ध शीतला माता मेला आदि पर भी रोक लगा दी गई है। मारवाड़ की आस्था का प्रतीक चैत्र नवरात्रि पर आयोजित होने वाले मां चामुंडा के आयोजन पर रोक सहित सभी प्रमुख मंदिरों के कपाट बंद किए गए हैं।

पालबालाजी मंदिर में भी प्रवेश निषेध कर दिया गया है। शुक्रवार को शहर के भीतरी क्षेत्र स्थित गंगश्यामजी व कुंज बिहारी मंदिर के पट भी बंद कर दिए गए। ऐतिहासिक व प्राकृतिक सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध मंडोर उद्यान भी बंद किया गया है।

यहां स्थित गणेश व काला गोरा भैरु मंदिर बंद किया गया है। इतना ही नहीं सिखों के आस्था केंद्र गुरुद्वारों पर भी इसका असर देखा जा रहा है। सोजती गेट स्थित आनंद सिनेमा के पास गुरुदास श्री गुरु संघ गुरुद्वारा को बंद किया है।

मसूरिया क्षेत्र स्थित जनजन की आस्था के प्रतीक बाबा रामदेव के गुरु बालिनाथ की समाधि व मंदिर परिसर को बंद करने के साथ ही लोगों को वायरस के प्रकोप से बचने के लिए आह्वान किया गया है।

आमजन के लिए शास्त्री सर्किल बंद है और शहर में निकलने वाली गणगौर यात्रा को भी स्थगित किया गया है।