राज्य सरकार शिक्षा के चहुॅंमुखी विकास के लिए सदैव तत्पर: मेघवाल

9

जयपुर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता व आपदा प्रबंधन मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल ने कहा है कि राज्य सरकार शिक्षा के चहुॅंमुखी विकास के लिए सदैव तत्पर है, आवश्यकता है अभिभावक अपने बच्चों को स्कूलों से जोड़कर राज्य सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में देय सुविधाओं का अधिकाधिक लाभ उठावें।

सामाजिक न्याय मंत्री भंवर लाल मेघवाल सुजानगढ़ में एक करोड़ 83 लाख रूपये से निर्मित होने वाले राजकीय शारदे बालिका छात्रावास के शिलान्यास समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक माता-पिता का दायित्व है कि वे अपने बालक व बालिका को ज्ञान अर्जित करने के लिए विद्यालयों से जोड़े। उन्होंने कहा कि गांवों में 8वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद छात्राओं को आगे की पढाई के लिए राजकीय शारदे बालिका छात्रावास में आवासीय सुविधाओं के साथ शिक्षा मिलेगी।

जनकल्याणकारी योजनाओं का संचालन किया जा रहा

सामाजिक न्याय मंत्री ने कहा कि राजस्थान सरकार द्वारा प्रत्येक वर्ग के उत्थान के लिए पालनहार, पेंशन, सामाजिक सुरक्षा सहित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है, आमजन जागरूक होकर इन महत्ती सुविधाओं का अधिकाधिक लाभ उठावें। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में कस्तुबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय शुरू कर कमजोर एवं गरीब परिवारों की बालिकाओं के लिए शिक्षा मुहैया करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि बीदासर व सड़ू में भी नये छात्रावासों का निर्माण करवाया जाकर ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब बच्चों को आवासीय सुविधाआ के साथ शिक्षा मुहैया करवाई जायेगी।

ये भी पढे: नीतिश के नेतृत्व में बिहार में लडेंगे चुनाव: नड्डा

सुविधाओं के विस्तार के लिए कृत-संकल्पित

सामाजिक न्याय मंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार आमजन के सर्वांगिण विकास के लिए शिक्षा, चिकित्सा, सड़क, विद्युत, पेयजल जैसी आधारभूत सुविधाओं के विस्तार के लिए कृत-संकल्पित है। उन्होंने कहा कि बालिका शिक्षा वर्तमान समाज की महत्ती आवश्यकता है, बालिका शिक्षा के विकास के लिए संकल्पबद्ध राज्य सरकार द्वारा महत्ती कदम उठाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलो में आज बहुत अच्छी पढाई हो रही है, अभिभावक जागरूक होकर अपने बच्चों को इन स्कूलों में बेहत्तर शिक्षा दिलावें।

ये लोग रहे मौजूद

इस अवसर पर पूर्व प्रधान गणेश ढाका, पूर्व जिला प्रमुख भंवर लाल पुजारी, सालासर तहसीलदार श्रवण कुमार, उप सभापति बाबूलाल कुलदीप, रामावतार मंगलहारा, ओमप्रकाश देवठिया, पूर्व उप प्रधान दीवान सिंह भानीसरिया, विद्याधर बेनीवाल, इदरीश गौरी, धमेन्द्र किलका, कन्हैयालाल शर्मा, बजरंग लाल सेन, कन्हैयालाल माली, जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।