देश को आज मिल जाएंगे नए उपराष्ट्रपति

26
उपराष्ट्रपति चुनाव

राजस्थान के दूसरे उपराष्ट्रपति होंगे जगदीप धनखड़

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए सुबह 10 बजे संसद में वोटिंग शुरू हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व पीएम डॉ मनमोहन सिंह कई केंद्रीय मंत्रियों ने मतदान शुरू होने के कुछ समय के बाद ही वोट डाल दिया। इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित दूसरे सांसदों ने भी मतदान किया। वोटिंग शाम 5 बजे तक होगी। इसके बाद देर शाम तक नतीजे भी आ जाएंगे।

उपराष्ट्रपति चुनाव

एनडीए के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ का उपराष्ट्रपति बनना तय माना जा रहा है। धनखड़ के सामने विपक्ष ने पूर्व में राजस्थान गवर्नर रही मारग्रेट अल्वा को प्रत्याशी बनाया है। पिछले कुछ दिनों में बने माहौल के बाद इस चुनाव में धनखड़ को उम्मीद से ज्यादा वोट मिल सकते हैं। वहीं, धनखड़ का दिल्ली में स्थायी निवास नहीं होने के कारण केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी के सरकारी निवास पर जीत के बाद होने वाले जश्न की तैयारियां की गई हैं। वोटिंग से पहले शुक्रवार को भी बिहार, राजस्थान और कई अन्य राज्यों के भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने धनखड़ से यहां मुलाकात की और उन्हें बधाई दी।

कई विपक्षी पार्टियों ने दिया समर्थन

चुनाव से ठीक एक दिन पहले शुक्रवार देर शाम नागौर रूक्क हनुमान बेनीवाल की पार्टी आरएलपी ने भी धनखड़ को समर्थन दे दिया है। बेनीवाल ने कहा कि उनके धनखड़ से पारिवारिक संबंध हैं और वो किसान के बेटे हैं, इसलिए उनकी पार्टी के सामूहिक निर्णय पर वो उपराष्ट्रपति चुनाव में उन्हें वोट देंगे। वहीं, इससे पहले बसपा सुप्रीमो मायावती और तेलगुदेशम पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू के अलावा बीजेडी और वाईएसआर कांग्रेस और ने भी उपराष्ट्रपति चुनाव में उन्हें समर्थन देने का एलान कर दिया था।

एनडीए सांसदों से मिले धनखड़

इससे पहले शुक्रवार देर शाम धनखड़ संसद परिसर स्थित जीएमसी बालयोगी ऑडिटोरियम में एनडीए सांसदों से मिलने भी पहुंचे। राज्यसभा सांसद घनश्याम तिवाड़ी ने बताया कि मीटिंग में सभी सांसदों की बढिय़ा माहौल में जगदीप धनखड़ से मुलाकात हुई। वे कानून के जानकार हैं। राजस्थान के लिए बड़े गौरव की बात है, अब वो देश के नए उपराष्ट्रपति बनने जा रहे हैं।

आंकड़ों से जानिए कितने सदस्य वोट डालेंगे

अभी लोकसभा में 543 सांसद हैं। राज्यसभा में कुल 245 सदस्य होते हैं। इनमें 12 नामित रहते हैं। अभी 8 सीटें खाली हैं। इनमें से 4 जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग होने के कारण जबकि एक सीट त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री बने माणिक साहा ने छोड़ी है। 3 नामित सदस्यों की सीट भी खाली हैं। यानी आज की स्थिति में चुनाव में लोकसभा के 543 और राज्यसभा के 237 सदस्य मिलाकर कुल 780 सदस्य वोट डालेंगे। प्रथम वरीयता के 391 वोट मिलने पर उम्मीदवार जीत जाएगा।

यह भी पढ़ें :वित्त नहीं, चरित्र की प्रयत्नपूर्वक हो सुरक्षा : आचार्य